scriptRailway negligence came to the fore, engine running without driver col | रेलवे की बड़ी लापरवाही आई सामने, बिना ड्राइवर के चला इंजन उसी लाइन पर खड़े दूसरे इंजन को मारी टक्कर | Patrika News

रेलवे की बड़ी लापरवाही आई सामने, बिना ड्राइवर के चला इंजन उसी लाइन पर खड़े दूसरे इंजन को मारी टक्कर

ओएचइ लाइन के खंभे से टकराया

सागर

Updated: July 10, 2020 08:47:36 pm

बीना. महादेवखेड़ी स्टेशन पर खड़ा एक डीजल इंजन अपने आप चल पड़ा जो उसी लाइन पर आगे खड़े एक इलेक्ट्रिक इंजन से जाकर टकरा गया, जिससे ओएचइ लाइन को नुकसान हुआ है तो वहीं रेल पटरी उखाड़ते हुए इंजन के पहिए मिट्टी में धंस गए। शुक्रवार को रेलवे की एक बड़ी लापरवाही सामने आई है, जहां पर डेड इनसाइडिंग में बीना की ओर इलेक्ट्रिक इंजन नंबर 32581 गुरुवार से खड़ा था। वहीं शुक्रवार को दोपहर 12.55 बजे डीजल इंजन नंबर 12839 की संटिंग की गई थी, जिसके बाद वह इंजन अपने आप चल पड़ा और आगे खड़े इलेक्ट्रिक इंजन से जाकर टकरा गया। इससे इलेक्ट्रिक इंजन तेजी से आगे बढ़ते हुए डेड एंड पर लगे एक ओएचई के खंभे से जाकर टकरा गया तब कहीं जाकर वह रुका। इंजन सीधा रेल पटरी नीचे जाकर इंजन के पहिए मिट्टी में धंस गए। इसके पीछे से डीजल इंजन स्लो स्पीड में आते हुए फिर से इंजन से टकरा गया, जिससे दोनों इंजन क्षतिग्रस्त हो गए। रेलवे सूत्रों की माने तो संटिंग के दौरान इंजन को कुछ दूर आगे बढ़ाना था, लेकिन इंजन को खड़ा करने के बाद वह बाद में बिना ड्राइवर के चल पड़ा था।
मेन लाइन पर हो जाती बड़ी घटना
गनीमत रही कि यह इंजन डेड इनसाइडिंग पर खड़ा था यदि यह घटनाक्रम मेन लाइन पर होता तो बड़ी घटना होने से इंकार नहीं किया जा सकता है। यदि ऐसा होता तो बीना-गुना लाइन पर यातायात भी ठप हो जाता।
डेढ़ घंटे बाद पहुंचा दुर्घटना वाहन यान
घटना के करीब डेढ़ घंटे बाद दोपहर ढाई बजे बीना स्टेशन से दुर्घटना वाहन यान को रवाना किया गया। जिसके बाद काम शुरू किया जा सका। इंजन के पहिए मिट्टी में धंस गए थे, इसलिए एयर जैक से इंजन को उठाया गया और पटरी डालकर उसे ट्रैक पर लागए। इसके कार्य में कर्मचारियों को करीब सात घंटे की मशक्कत करनी पड़ी।
इन विभागों के अधिकारी, कर्मचारियों ने किया काम
घटना में पटरी से लेकर ओएचई लाइन भी क्षतिग्रस्त हुई है जिसके बाद यहां पर टीआरडी, टीआरएस, सीएंडडब्ल्यू, इलेक्ट्रिकल, माइक्रो, आरपीएफ के अधिकारी कर्मचारी मौके पर मौजूद रहे।
नहीं है जानकारी
घटना कहां और कब हुई है इसकी जानकारी मुझे नहीं है। मैं पता करके ही कुछ बता पाऊंगा।
आइए सिद्दीकी, पीआरओ, भोपाल

Railway negligence came to the fore, engine running without driver collided with another engine standing on the same line
Railway negligence came to the fore, engine running without driver collided with another engine standing on the same line

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: एक्शन में शिवसेना! अयोग्य करार देने के लिए डिप्टी स्पीकर को भेजा 4 और MLA के नाम, 16 बागियों पर भी कार्रवाई की तैयारीMaharashtra Political Crisis: सड़क पर शिवसैनिकों के उपद्रव का डर, हाई अलर्ट पर मुंबई समेत राज्य के सभी पुलिस थानेMumbai News Live Updates: शिंदे के गढ़ ठाणे में निषेधाज्ञा लागू, 30 जून तक खुलेआम लाठी-डंडे, हथियार लेकर चलना व पोस्टर जलाना प्रतिबंधितNDA की राष्ट्रपति उम्मीदवार पर रामगोपाल वर्मा ने किया विवादित ट्वीट, BJP ने दर्ज कराई शिकायतपाकिस्तान की खुली पोल, 26/11 मुंबई हमले का मास्टर माइंड साजिद मीर जिंदा, ISI ने मोस्ट वांटेड आतंकी को बताया था मराअमरीकी सुप्रीम कोर्ट ने खत्म किया गर्भपात का अधिकार: बाइडेन बोले, ट्रंप द्वारा नियुक्त जज छीन रहे महिलाओं के फंडामेंटल राइटयूपी में नमाज के बाद उपद्रव मचाने वालों के घर पर चला बाबा का बुलडोजर, देखें वीडियोनॉर्वे की राजधानी ओस्लो में नाइट क्लब में अंधाधुंध फायरिंग, 2 की मौत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.