कानून व्यवस्था में उलझी पुलिस, अभियान की निकली हवा

कानून व्यवस्था में उलझी पुलिस, अभियान की निकली हवा

Manish Kumar Dubey | Publish: Sep, 11 2018 05:09:06 PM (IST) Sagar, Madhya Pradesh, India

जागरूकता रैली बेअसर

सड़क जागरूकता अभियान
4 सितंबर को शुरू हुआ था अभियान, भारत बंद सहित अन्य आंदोलन व प्रदर्शन के कारण यातायात रहा बेटपरी
सागर. ट्रैफिक पुलिस का जागरुकता अभियान ४ सितंबर को शुरू होने के दूसरे दिन से ही ठंडे बस्ते में चला गया। ६ सितंबर को सपाक्स समाज के भारत बंद और १० सितम्बर को कांग्रेस द्वारा बुलाए गए के अलावा शहर में वीआइवी मूवमेंट की व्यस्तता में चले अभियान फिर एक बार रस्मअदायगी बनकर रह गया। इससे पहले अप्रैल माह में भी ट्रैफिक पुलिस द्वारा चलाया गया सड़क सुरक्षा अभियान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के आगमन और सुरक्षा इंतजामों के चलते बेअसर साबित हुआ था।
न स्कूल-कॉलेज में पहुंच सके और न ही चालकों को दे सके समझाइश
वाहन चालकों को सड़क पर चलने के दौरान नियमों का पालन करने की जानकारी, विद्यार्थियों को ट्रैफिक के नियमों के प्रति जागरुक बनाने के लिए ४ सितंबर से शहर में हेलमेट जागरूकता रैली को हरी झंडी दिखाकर आइजी सतीश कुमार सक्सेना ने अभियान शुरू किया था। लेकिन एक दिन बाद ही शहर बंद के आह्वाान के चलते पुलिसकर्मियों ड्यूटी में उलझ गए। वे स्कूल-कॉलेज में न तो विद्यार्थियों के बीच पहुंच सके और न सड़क पर वाहन चालकों को समझाइश दी जा सकी। सड़कों पर सबसे ज्यादा युवा वर्ग ही ट्रैफिक नियमों का पालन करते हुए दिखाई नहीं देता है। इसलिए स्कूल व कॉलेजों में पहुंचकर उन्हें ट्रैफिक नियमों के प्रति जागरूक करने का प्लान था।

ऐसे दृश्य शहर में कभी भी देखे जा सकते हैं। वाहन चलाते समय इन्हें न तो खुद की सुरक्षा की चिंता रहती है और न ही दूसरों की। नियमानुसार दोपहिया वाहन पर चालक सहित दो सवारी ही होना चाहिए। यह तब हो रहा है जब शहर में यातायात को लेकर अभियान चलाया जा रहा है। तस्वीरों में वाहन चला रहीं इन युवतियों को भी यातायात के नियमों का पाठ पढ़ाने की जरूरत है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned