मैरिज गार्डनों के सामने पाॢकंग स्पेस में बदली सड़क, बारात के हुल्लड़ से लग रहा जाम

बीएमसी-जिला अस्पताल मार्ग पर एक भी जगह नहीं ट्रैफिक-पुलिस पाइंट

सागर. मैरिज गार्डनों में पाॢकंग स्पेस की कमी ने अस्पताल रोड पर वैवाहिक आयोजनों को आमजन की मुसीबत बना दिया है। सड़क किनारे वाहनों की पाॄकग, डीजे के शोर परड्ड सड़क घेरकर खड़ी बारात के कारण शाम ढलते ही जाम की स्थिति बन रही है। इस मार्ग पर जिला अस्पताल, मेडिकल कॉलेज, कई नर्सिंग होम और आधा दर्जन मैरिज गार्डन हैं। वैवाहिक सीजन में अकसर सड़क बारात के बोझ से लदी रहती है। इस वजह से दीनदयाल चौराहा, संजय ड्राइव, जिला अस्पताल व तिली तिराहे पर बार-बार जाम लगने से वाहन फंस जाते हैं। कई बार तो जाम की चपेट में एम्बुलेंस भी आ जाती हैं जिनमें मरीज जीवन-मृत्यु के बीच झूल रहे होते हैं। इतना महत्वपूर्ण होने के बावजूद दीनदयाल चौराहे से तिली के बीच एक भी ट्रैफिक या पुलिस पाइंट नहीं लगाया गया है।

सीसीटीवी कैमरों की निगरानी भी बेमानी -

मेडिकल कॉलेज व जिला अस्पताल के बीच दो स्थानों पर पुलिस विभाग द्वारा सीसीटीवी कैमरे लगवाए गए हैं जिनकी मॉनिटरिंग कंट्रोल रूप से की जाती है लेकिन इन कैमरों के सामने ही बारातों का हुल्लड़ ट्रैफिक जाम किए रहता है लेकिन कंट्रोल रूप से न कोई पाइंट चलाया जाता न ही कार्रवाई की जाती। यानि की सीसीटीवी कैमरों के सामने काफी देर तक जाम लगा रहता है लेकिन बीएमसी चौकी या गोपालगंज थाने के बाज स्कवॉड को इसे खुलवाने नहीं भेजा जाता।

मैरिज गार्डन के सामने सड़क पर पाॢकंग -

तिली रोड पर आधा दर्जन मैरिज गार्डन है। इनमें वैवाहिक कार्यक्रम होने के दिन जब बारात निकलती है तब सड़क पाॢकंग स्पेस के रूप में बदल जाती है। मछली पान केंद्र के सामने स्थित मैरिज गार्डन के सामने तो बाइक, कार-जीप और बारात की बस तक खड़ी कर दी जाती है। यहां सड़क पर डीजे का इतना धूम धड़ाका होता है कि नजदीक स्थित हार्ट अस्पताल और यहां आने-जाने वाले मरीजों की जान पर बन आती है। इससे कुछ ही दूरी पर मुक्तिधाम के नजदीक स्थित मैरिज गार्डन में भी शादी समारोह के दौरान यही स्थिति बनती है।

दोपहर में बारात के कारण लगा जाम -

शुक्रवार को मेडिकल कॉलेज के सामने लगी एक बारात के कारण दोपहर में ही जाम लग गया। मेडिकल के ठीक सामने से जिला अस्पताल के बीच बाराती डीजे के शोर पर सड़क घेरकर नाचते-गाते रहे। उनकी वजह से बड़ी संख्या में वाहनचालकों, ऑटो रिक्शा और यात्री बस भी जाम में फंसी रहीं। यह सब पुलिस के सीसीटीवी कैमरों के ठीक नीचे होता रहा लेकिन पूर्वाह्न 11.30 बजे सरे राह हो रही हुल्लड़ पर पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई।

संजय शर्मा Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned