प्लेटफॉर्म दो से मेन रोड तक जर्जर हो गई सड़क, एेसे निकलते हैं लोग

प्लेटफॉर्म दो से मेन रोड तक जर्जर हो गई सड़क, एेसे निकलते हैं लोग

Manish Kumar Dubey | Publish: Sep, 04 2018 04:53:29 PM (IST) Sagar, Madhya Pradesh, India

ड्रेनेज सिस्टम फेल, पार्किंग में भी भरता है पानी

सागर. रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म तक पहुंचने के लिए इन दिनों यात्रियों को खासी परेशानी उठानी पड़ रही है। प्लेटफॉर्म नंबर 2 पर सबसे ज्यादा यात्री परेशान हो रहे हैं। यहा रेलवे के इंजीनियरिंग विभाग ने एप्रोच रोड का एक हिस्सा नहीं बनाया है। इस वजह से इस मार्ग पर बड़े-बड़े गड्ढे हो चुके हैं। पूर्व में विभाग ने इन गड्ढों पर मुरम डलवा दी थी, लेकिन बारिश के कारण अब यहां कीचढ़ मचा हुआ है। बड़ी संख्या में यात्री प्रतिदिन इसी जर्जर मार्ग से होते हुए स्टेशन पर पहुंच रहे हैं। उधर, प्लेटफॉर्म-1 पर दो साल पहले बनी एप्रोच रोड भी जर्जर हो चुकी है। करीब 26 लाख रुपए की लागत से एक किमी लंबी सड़क बनाई गई थी, लेकिन पिछले साल ही यह सड़क जर्जर होना शुरू हो गई थी। वर्तमान में इस मार्ग पर गड्ढे ही गड्ढे बन चुके हैं। हालांकि परिसर में पेवर ब्लॉक लगने के कारण कीचढ़ की स्थिति नहीं बनती है।
प्लेटफॉर्म नंबर-२ पर पानी निकासी के लिए ड्रेनेज सिस्टम नहीं बनाया गया है। बारिश का पानी परिसर में ही भरता है। पर्र्किंग में सबसे ज्यादा पानी भरने से कीचढ़ जैसी स्थिति निर्मित होती है। उधर, यहां पर पेवर ब्लॉक न बने होने से वाहनो मालिकों को खासी परेशानी उठानी पड़ती है। हैरानी की बात यह है कि अभी तक पार्र्किंग में शेड नही लगाए गए हैं। यात्रियों को अपने-अपने वाहन खुले आसमान के नीचे बारिश के बीच रखने पड़ रहे हैं।
हेवी वाहनों से परेशान यात्री
मालगोदाम शिफ्ट न होने से यात्रियों को अभी भी काफी परेशानी उठानी पड़ रही है। गर्मियों में सीमेंट के गुबार से जहां यात्री परेशान होते हैं। वहीं, बारिश में जर्जर सड़क से इन वाहनों के गुजरते समय यात्रियों को काफी दिक्कतें उठानी पड़ती हैं। जर्जर सड़क पर पड़ी गिट्टियों के उछलकर यहां-वहां फिकते हैं। एेसे में यात्रियों के घायल होने की आशंका बनी हुई है।

इंजीनियरिंग विभाग का काम
प्लेटफार्म नंबर दो पर एप्रोच रोड खराब है। यह बात
सही है, लेकिन यह काम इंजीनियरिंग विभाग का है।
नरेंद्र सिंह, स्टेशन प्रबंधक

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned