सागर पत्रिका. परेड मंदिर से राठौर बंगला तक निर्माणाधीन सड़क अब लोगों के लिए मुसीबत बन गई है। एक साल से चल रहे काम के बाद भी सड़क नहीं बन सकी है, लिहाजा यहां उड़ती धूल से सांस लेना भी दूभर हो गया है। इस मार्ग से कान्वेंट स्कूल सहित अन्य निजी स्कूलें हैं। हैरानी की बात यह है कि बच्चों को भी धूलभरे मार्ग से गुजरना पड़ रहा है। इससे वे बीमारी का शिकार भी हो रहे हैं। हालात यह हैं कि सड़क के आसपास खड़े वाहनों पर डस्ट जम गई है और लोग अस्थमा, एलर्जी सहित अन्य बीमारी की चपेट में आ रहे हैं।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned