कल बंद के लिए आज व्यापारियों से समर्थन जुटाएगा सपाक्स

कल बंद के लिए आज व्यापारियों से समर्थन जुटाएगा सपाक्स

Samved Jain | Publish: Sep, 05 2018 01:29:38 PM (IST) Sagar, Madhya Pradesh, India

कानून-व्यवस्था को चाक-चौबंद रखने पुलिस-प्रशासन ने की बैठक

सागर. एट्रोसिटी एक्ट का सपाक्स विरोध तो करेगी, लेकिन शांतिपूर्ण और प्रभावी तरीके से। छह सितंबर बंद को सफल बनाने के लिए सपाक्स कार्यकर्ताओं की फौज न केवल हाथ जोड़कर व्यापारियों से समर्थन मांगेगी, बल्कि तय तिथि को सिविल लाइन में एकत्र होकर शाांतिपूर्ण तरीके से कलेक्ट्रेट पहुंचकर कलेक्टर को ज्ञापन भी देगी। आयोजन की सफलता के लिए सपाक्स की मंगलवार को बैठक भी हुई जिसमें जिम्मेदारियां तय की गईं, वहीं एट्रोसिटी एक्ट में सुप्रीम कोर्ट द्वारा किए गए संशोधन को केंद्र सरकार द्वारा पलटने के विरोध में हो रहे प्रदर्शनों को देखते हुए पुलिस-प्रशासन भी सतर्क है।
मंगलवार को कलेक्टर आलोक कुमार सिंह ने धारा १४४ की अवधि दो माह बढ़ा दी है। सपाक्स के आह्वान पर 6 सितम्बर पर बुलाए गए बंद के दौरान कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए जरूरी तैयारियों पर भी पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने समीक्षा की। सपाक्स कार्यकर्ता भी इस बीच कंट्रोल रूम पहुंच गए और ६ सितम्बर को कानून-व्यवस्था के दायरे में रहकर शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने का आश्वासन दिया। सपाक्स कार्यकर्ता बुधवार को शहर भर के बाजारों में घूमकर एससीएसटी एक्ट के संशोधन को रद्द करने के विरोध में 6 सितम्बर को प्रतिष्ठान बंद रखकर समर्थन की मांग करेंगे। इस के लिए मकरोनिया, सिविल लाइन और शहर क्षेत्र में युवा कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारी सौंपी गई है।
सपाक्स कार्यकर्ता भरत तिवारी ने बताया कि केंद्र सरकार द्वारा सुप्रीम कोर्ट द्वारा एससीएसटी एक्ट में किए गए संशोधन को राजनीतिक स्वार्थों के चलते पलटा गया है। इससे अनारक्षित व पिछड़ा वर्ग के लोगों के सामने फिर संकट की स्थिति खड़ी हो गई है। इसको लेकर देश भर में विशेषकर युवाओं में आक्रोश है। सपाक्स युवा वोट बैंक की राजनीति के चलते अपने साथ किए गए केंद्र सरकार के छल से दुखी है और इसीलिए देश व्यापी बंद का आह्वान किया गया है। 6 सितम्बर को देश भर में बाजारों को बंद रखकर केंद्र सरकार और नेताओं को उनकी भूल का अहसास कराया जाएगा।
मकरोनिया में हुई चर्चा, बैठक आज भी
सपाक्स समाज के विरोध प्रदर्शन व बंद के आव्हान को लेकर मंगलवार को मकरोनिया में बैठक का आयोजन किया गया जिसमें करणी क्षत्रिय सेना व ब्राह्मण समाज आगे रहा। भरत तिवारी की मौजूदगी में बैठक में सिविल लाइन व्यापारी संघ अध्यक्ष प्रकाश गुरु ने बंद का समर्थन किया। इस मौके पर बंद के संबंध में जिम्मेदारियां भी बांटी गईं। बैठक में कपिल स्वामी, अरुण चौबे, राहुल पटेल, कपिल दुबे, प्रियंक दुबे, वारिज तिवारी, शिवशंकर मिश्रा, अतुल मिश्रा, इंदुराजा बरगुआं, अखिलेश यादव, गगन होरा, लकी सेन, डब्बू सेन, आशीष राठौर, सल्लू रजक, विनोद रजक, इंदु राजा राजपूत, रानू गौतम, गौरव चौबे, पंकज दुबे, संदीप साहू, प्रकाश दुबे, रिशु राजपूत, अंकुर श्रीवास्तव व अन्य कार्यकर्ता मौजूद रहे। बुधवार 5 सितम्बर को शाम 5 बजे पहलवान बाबा मंदिर परिसर में भी सपाक्स की बैठक का निर्णय लिया।
रणनीति तैयार की
उधर, सपाक्स कार्यकर्ताओं ने बंद को सफल बनाने के लिए रणनीति तैयार की है। इसके लिए युवाओं की टोलियां बनाई गई हैं जो बुधवार को हाथ जोड़कर शहर के बड़ा बाजार, कटरा, गुजराती बाजार, सिविल लाइन व मकरोनिया क्षेत्र में घूमते हुए व्यापारियों से समर्थन की मांग करेंगी। कार्यकर्ता मर्यादित रहकर प्रदर्शन में शामिल होंगे और 6 सितम्बर को दोपहर 12 बजे सिविल लाइन चौराहे से रैली के रूप में कलेक्ट्रेट परिसर पहुंचकर अपना मांग पत्र सौपेंगे।

Ad Block is Banned