शनिदेव की अराधना के लिए लगा भक्तों का तांता

जैन समाज ने मुनिसुव्रत नाथ भगवान का महामस्तिकाभिषेक किया

By: रेशु जैन

Published: 05 May 2019, 05:02 AM IST

सागर. शनिश्चरी अमावस्या पर शनिवार को आयुष्मान योग में मनाई गई। शनि मंदिरों में सुबह से भक्तों का तातां लग गया। सुबह से शनिदेव का मनोहारी श्रृंगार किया गया। इसके साथ ही शनि पीड़ा अनुष्ठान और तेलाभिषेक करने वाले श्रद्धालुओं की भी संख्या मंदिरों में अधिक नजर आई। तेलाभिषेक कर शनि पीड़ा की शांति के लिए प्रार्थना भी श्रद्धालुओं द्वारा की गई। कबूलापुल स्थित प्रसिध्द शनिदेव मंदिर में भक्तों की लंबी कतार देखने को मिली।

पं. शिवप्रसाद तिवारी ने बताया कि शनिदेव का जन्म शनिवार को अमावस्या तिथि में हुआ था, इसलिए भी शनिवारी अमावस्या का विशेष महत्व है। अमावस्या तिथि कार्य सिद्ध करने वाली मानी जाती है। इस बार इस अमावस्या का विशेष महत्व इसलिए भी है क्योंकि इस वर्ष के राजा भी शनि हैं।

महामस्तिकाभिषेक किया

जैन समाज द्वारा शनि अमावस्या के पावन पर्व पर रोग शोक, आधि व्याधि शनि ग्रह अरिष्ट निवारक मुनिसुव्रत नाथ भगवान का महामस्तिकाभिषेक किया। वल्लभनगर वार्ड स्थित मुनिसुव्रत नाथ मंदिर में मूलनायक प्रतिमा का भक्तों ने उत्साह के साथ अभिषेक किया। इस मौके पर मंत्रोच्चार के साथ शांतिधारा हुई और विधान का आयोजन हुआ।

रेशु जैन Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned