scriptग्लास ब्रिज के सपने दिखाए, फिर कांच की तरह तोड़ दिए | Patrika News
सागर

ग्लास ब्रिज के सपने दिखाए, फिर कांच की तरह तोड़ दिए

सागर. संजय ड्राइव से अटल पार्क को जोडऩे के लिए कनेरादेव नहर पर सागर स्मार्ट सिटी लिमिटेड ने ग्लास ब्रिज बनाने के सपने दिखाए थे। तीन साल में इस ब्रिज का एक इंच भी काम शुरू नहीं हुआ। जब पत्रिका ने मामले की पड़ताल की तो पता चला कि ग्लास ब्रिज बनाने प्लान ही निरस्त […]

सागरJun 10, 2024 / 04:45 pm

अभिलाष तिवारी

  • डिजाइन बनने के बाद एक साल तक लटका रहा टेंडर, फिर कर दिया निरस्त
  • दो साल पहले निरस्त हो चुका टेंडर, बात दबाकर बैठे रहे अधिकारी
सागर. संजय ड्राइव से अटल पार्क को जोडऩे के लिए कनेरादेव नहर पर सागर स्मार्ट सिटी लिमिटेड ने ग्लास ब्रिज बनाने के सपने दिखाए थे। तीन साल में इस ब्रिज का एक इंच भी काम शुरू नहीं हुआ। जब पत्रिका ने मामले की पड़ताल की तो पता चला कि ग्लास ब्रिज बनाने प्लान ही निरस्त कर दिया गया है। एसएससीएल ने ग्लास ब्रिज की डिजाइन व डीपीआर तक तैयार कर ली थी। इस ग्लास ब्रिज को सागर की बड़ी उपलब्धि के तौर पर बताया गया था लेकिन इसको निरस्त कर दिया गया है। एसएससीएल के अधिकारी इस बात को दो साल से दबाए हैं।

इसलिए बनाया था ग्लास ब्रिज का प्लान

अटल पार्क में पहले नगर निगम और फिर स्मार्ट सिटी योजना के तहत करोड़ों रुपए खर्च किए गए। अटल पार्क के लिए सिर्फ एक प्रवेश द्वार तिली मार्ग से ही है, जबकि पार्क तिली मार्ग से संजय ड्राइव तक फैला हुआ है। संजय ड्राइव की ओर रहने वाले लोगों को इस पार्क की सुविधा नहीं मिल पा रही थी, जहां पर हजारों की संख्या में लोग रहते हैं। इसी वजह से उन्हें अनावश्यक रूप से संजय ड्राइव से तिली मार्ग तक चक्कर न काटना पड़े, इसलिए यहां पर ग्लास ब्रिज बनाने का निर्णय हुआ था। इससे पार्क में लोगों की संख्या भी बढ़ती, लेकिन इस प्लान को निरस्त कर दिया।

कंक्रीट का पुल बनाया, फिर तोड़ा

ग्लास ब्रिज कनेरादेव नहर पर बनाया जाना था लेकिन तभी एसएससीएल ने कनेरादेव नहर का जीर्णोद्धार शुरू कर दिया और जहां पर ग्लास ब्रिज बनना था, उस जगह पर पानी निकासी के लिए कंक्रीट का पुल बना दिया था। अब इस पुल को भी तोड़ दिया गया है।

आवागमन हो गया बंद

पूर्व में संजय ड्राइव से पुल की ओर जाने के लिए एक लोहे का पुल बना हुआ था, जिसको वहां से हटाकर एक तरह रख दिया गया है। इस वजह से अब यहां से लोगों की आवाजाही पूरी तरह से बंद हो गई है।

अटल पार्क में बढ़ती पर्यटकों की संख्या

ग्लास ब्रिज या अन्य कोई साधारण पुल संजय ड्राइव से अटल पार्क की ओर बन जाता है तो इससे पार्क में पहुंचने वाले लोगों की संख्या में इजाफा होता। पुरव्याऊ, चकराघाट, बड़े बाजार के लोग अभी इस पार्क की ओर नहीं आ पाते हैं। यदि यहां पर पहुंच मार्ग के रूप में पुल बन पाए तो अटल पार्क में चहल-कदमी और ज्यादा बढ़ जाएगी।

निरस्त कर दिया था

– पूर्व में ग्लास ब्रिज का प्रपोजल तैयार हुआ था लेकिन उसको निरस्त कर दिया गया था। कनेरादेव नहर में अभी जो कंक्रीट का छोटा पुल बीच में बनाया था, उसको जल निकासी के लिए तैयार किया था, लेकिन वह सही नहीं था, इसलिए हटा दिया गया। – युक्तांश श्रीवास्तव, कंसल्टेंट, एसएससीएल

Hindi News/ Sagar / ग्लास ब्रिज के सपने दिखाए, फिर कांच की तरह तोड़ दिए

ट्रेंडिंग वीडियो