कंसल्टेंट एजेंसियों ने ली शहर के ट्रैफिक व पार्किंग मैनेजमेंट की टोह, पुलिस से सलाह

स्मार्ट सिटी के तहत शहर में विकसित होंगे पार्किंग एरिया

By: manish Dubesy

Updated: 18 Dec 2018, 01:32 PM IST

सागर. स्मार्ट सिटी के प्रोजेक्ट धीरे-धीरे अमलीजामा पहनने की स्थिति में आने लगे हैं। शहर के ट्रैफिक को बेहतर बनाने के लिए चौराहों पर स्मार्ट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम लगाने के लिए एजेंसी के चयन के बाद सोमवार को पाॢकंग एरिया चिन्हित और विकसित करने का प्रोजेक्ट तैयार करने कंसल्टेंट एजेंसी के प्लानर सागर पहुंचे। मुम्बई की एजेंसियों द्वारा कटरा, तीन बत्ती और सिविल लाइन क्षेत्र में भ्रमण कर वहां के ट्रैफिक के घनत्व और पाॢकंग की व्यवस्था का जायजा लिया। उन्होंने बाजार में मौजूद लोगों और पुलिस के अधिकारियों के साथ चर्चा कर उनसे भी बेहतर ट्रैफिक और पाॢकंग
स्पेस विकसित करने के संबंध में सुझाव जाने।
स्मार्ट सिटी के तहत सागर क्षेत्र के चौक-चौराहों पर ट्रैफिक को नियंत्रित करने के लिए अब पुलिस के साथ ही स्मार्ट मैनेजमेंट सिस्टम के माध्यम से निजी क्षेत्र की एजेंसियां भी निगरानी करेंगी। इसी के पहले चरण में शहर के तिली क्षेत्र स्थित चौराहे पर ट्रैफिक कमांड का डेमोस्ट्रेशन भी किया जा चुका है। दूसरे चरण में शहर में वाहनों की पाॢकंग एरिया विकसित करने के लिए सोमवार को मुम्बई से आई कंसल्टेंट एजेंसियों द्वारा टोह ली गई। दो एजेंसियों के प्रतिनिधियों ने
कटरा बाजार का भ्रमण किया और वहां भविष्य में वाहनों के लिए पेड और सामान्य पाॢकंग के लिए स्पेस तलाशे। उन्होंने कटरा के रहवासियों के वाहनों के नियमित रूप से बाजार में खड़े रहने के संबंध में भी विकल्प पर अधिकारियों से चर्चा की। शाम को इन प्रतिनिधियों ने ट्रैफिक डीएसपी संजय खरे के कार्यालय पहुंच कर उनसे भी शहर के ट्रैफिक-पाॢकंग के हाल जाने। चर्चा के दौरान ट्रैफिक डीएसपी खरे ने एजेंसियों को कटरा बाजार, तीन बत्ती, विजय टॉकीज, नमक मंडी से लेकर राधा तिराहा और सिविल लाइन क्षेत्र के रोडमैप से अवगत कराया। उन्होंने पाॢकंग स्पेस चिन्हित करने के दौरान आने वाली बाधाओं और उनके निराकरण के बारे में भी महत्वपूर्ण जानकारियां दी।

manish Dubesy Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned