5 साल में कोर्स पूरा न करने वाले छात्रों को मिल सकता है एक मौका

-परीक्षा विभाग कर रहा तैयारी, हालांकि मंजूरी मिलना है शेष

By: आकाश तिवारी

Published: 04 Apr 2019, 07:07 AM IST

सागर. डॉ. हरिसिंह गौर केंद्रीय विवि प्रशासन छात्रों के हितों को लेकर एक पहल करने जा रहा है। इसके तहत वे छात्र जो यूजीसी की गाइड लाइन के अनुसार 5 वर्ष में अपना कोर्स पूरा नहीं कर पाए हैं। उन्हें परीक्षा में बैठने का एक मौका देगा। हालांकि इसमें शर्त यह रखी गई है कि संबंधित छात्र सिर्फ एक सेमेस्टर में फैल हुआ हो। एक से अधिक सेमेस्टर में फैल होने वाले छात्रों को परीक्षा में बैठने नहीं मिलेगा। बता दें कि एेसे छात्रों की संख्या सैकड़ो हैं, जो किसी कारण से कोर्स समय पर पूरा नहीं कर पाए और अब विवि से कोर्स पूरा कराने की गुहार लगा रहे है। डॉ. हरिसिंह गौर केंद्रीय विवि से संबद्ध निजी कॉलेजों में बड़ी संख्या में इस तरह के छात्र हैं, जो एक सेमेस्टर में फैल हैं, लेकिन ५ साल के बाद परीक्षा में बैठने की अनुमति मांग रहे हैं।
-तो बैठक सकते हैं परीक्षा में

विवि के सूत्रों की माने तो अभी इसको लेकर प्रक्रिया शुरू हुई है। परीक्षा विभाग छात्रों की मांग पर इसे तैयार कर रहा है। जानकारी के अनुसार इस पर अभी निर्णय नहीं हुआ है, लेकिन उम्मीद जताई जा रही है कि विवि प्रशासन छात्रों के साल बर्बाद न हो इसलिए यह कदम उठा सकता है। हालांकि पूर्व में भी कई बार इस तरह के निर्णय विवि प्रशासन ने लिए हैं। दमोह निवासी छात्र शुभम अवस्थी बीएससी माइक्रोबायोलॉजी का छात्र है। ५ साल में कोर्स पूरा करने की अवधि निकल जाने के बाद छात्र ने विवि प्रशासन ने एक सेमेस्टर के लिए परीक्षा में बैठने की अनुमति मांगी है। छात्र ने बाकी सभी सेमेस्टर पास कर लिए हैं। विवि यदि इस पर निर्णय ले लेता है तो शुभम जैसे कई छात्र अपना कोर्स पूरा कर पाएंगे। उन्हें ५ साल गवांने नहीं पड़ेंगे।

आकाश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned