कागजों तक ही सीमित नए सरकारी कॉलेजों की घोषणा का मामला, विभाग ने स्वीकृति ही नहीं दी

Gulshan Patel

Publish: Jun, 14 2018 07:19:59 PM (IST)

Sagar, Madhya Pradesh, India
कागजों तक ही सीमित नए सरकारी कॉलेजों की घोषणा का मामला, विभाग ने स्वीकृति ही नहीं दी

एेसे में इस साल प्रवेश की प्रकिया भी पूरी हो जाएगी और बच्चों को नए कॉलेजों का लाभ नहीं मिल पाएगा।

सागर. मुख्यमंत्री द्वारा इस सत्र से जिले में तीन नए कॉलेज खोलने की घोषणा तो कर दी गई है, लेकिन आठ महीने में विभाग ने इसकी स्वीकृति ही नहीं दी है। एेसे में इस साल प्रवेश की प्रकिया भी पूरी हो जाएगी और बच्चों को नए कॉलेजों का लाभ नहीं मिल पाएगा।
ज्ञातव्य है कि सीएम शिवराज सिंह चौहान ने इस साल बांदरी, खिमलासा और नरयावली में नए कॉलेज खोलने की घोषणा की थी। इनमें से बांदरी और खिमलासा में तो विभाग के क्षेत्रीय कार्यालय ने १५ नवंबर को शासन को प्रस्ताव बनाकर भेज दिया। वहीं पिछले दिनों ६ मई को ग्राम बामोरा में आयोजित हुए पिछड़ा वर्ग सम्मेलन में सीएम ने नरयावली में भी कॉलेज खोलने की घोषणा की थी। इसका भी प्रस्ताव बनाकर विभाग को भेजा जा चुका है, लेकिन तीनों कॉलेजों के लिए अभी तक न तो वित्तीय स्वीकृति मिली है और न ही केबिनेट में प्रस्ताव लाया गया है।
पिछले सत्र में मकरोनिया में एडमिशन प्रक्रिया खत्म होने के बाद शुरू हुआ, जिसके बाद उच्च शिक्षा विभाग ने गल्र्स डिग्री कॉलेज और आर्ट्स एंड कॉमर्स कॉलेज में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों की स्वीकृति उपरांत उनका प्रवेश मकरोनिया कॉलेज में स्थानांतरित किया था।
प्रस्ताव बनाकर भेजा
उच्च शिक्षा विभाग द्वारा नए सत्र में पोर्टल के माध्यम से प्रवेश प्रक्रिया को शुरू कर दिया गया है। रजिस्ट्रेशन की तिथि समाप्त हो गई है। दस्तावेज का सत्यापन भी हो चुका है, लेकिन कॉलेजों के लिए प्रशासकीय स्वीकृति न मिलने के कारण पोर्टल पर इन कॉलेजों को नहीं दिखाया गया है। ऑनलाइन प्रवेश प्रक्रिया शुरू होने के बाद यदि कॉलेज शुरू होता है तो प्रवेश प्रक्रिया को लेकर फिर से भ्रम की स्थिति निर्मित होगी।
हालांकि सीएम की घोषणा के अनुरूप इसी सत्र में इन कॉलेजों को स्वीकृति मिलेगी, लेकिन तब तक देर हो चुकी होगी।

सीएम की घोषणा के बाद तीन नए कॉलेज का प्रस्ताव बनाकर भेज दिया गया है, लेकिन विभागीय स्वीकृति नहीं मिलने के कारण अभी इन्हें प्रवेश प्रक्रिया में शामिल नहीं किया गया है। - डॉ. आरके गोस्वामी, विशेष कर्तव्यनिष्ठ अधिकारी उच्च शिक्षा विभाग

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned