प्रशासन की आंख में धूल झोंककर छलक रहे थे जाम

प्रशासन की आंख में धूल झोंककर छलक रहे थे जाम

Gulshan Patel | Publish: Apr, 17 2018 04:27:37 PM (IST) Sagar, Madhya Pradesh, India

पत्रिका ने खुलेआम शराबखोरी को प्रमुखता के साथ प्रकाशित किया था।

सागर. रेस्टोरेंट को अहातों में तब्दील कर अनाधिकृत रूप से शराब पिलाने की मनमानी पर पुलिस और आबकारी अमले ने सोमवार को अलग-अलग कार्रवाई की। स्टेशन क्षेत्र में पुलिस ने जहां एक रेस्टोरेंट संचालक के विरुद्ध शराब पिलाते मिलने पर दो अपराध दर्ज किए, वहीं आबकारी टीम ने कटरा और स्टेशन क्षेत्र की दुकानों के पास अनाधिकृत अहाते बंद कराए।
पत्रिका ने रेस्टोरेंट के बोर्ड की आड़ में चलाए जा रहे अहाते व खुलेआम शराबखोरी को प्रमुखता के साथ प्रकाशित किया था। इस पर पुलिस और आबकारी अमला हरकत में आ गया। सोमवार को कैंट पुलिस ने स्टेशन के सामने स्थित शराब ठेके के पास स्थित बाबर्ची होटल पर लोगों को शराब पिलाते मिलने पर संचालक सुरेन्द्र केशरवानी और उसके एक साथी के विरुद्ध अपराध दर्ज कर वहां से शराब जब्त की है।
इधर आबकारी निरीक्षक मंजूषा सोनी ने अपने कार्यक्षेत्र में आने वाली कटरा बाजार अंग्रेजी शराब दुकान (गुजराती बाजार में संचालित) के पास रेस्टोरेंट में शराब पिलाए जाने पर उसके संचालक के विरुद्ध केस बनाया है। आबकारी निरीक्षक ने जांच के बाद रेस्टोरेंट को खाली कराते हुए उसकी तालाबंदी भी कराई है।
दूसरे वृत्त में नींद में डूबे निरीक्षक
सोमवार को स्टेशन और गुजराती बाजार क्षेत्र में तो आबकारी अमले च पुलिस ने कार्रवाई की, लेकिन शहर के दूसरे वृत में आबकारी निरीक्षकों की नींद नहीं टूटी। तहसीली क्षेत्र में जिला पंचायत अध्यक्ष के बंगले के बाहर मधुकरशाह वार्ड दुकान के नजदीक सोमवार को लोग फिर शराब पीते नजर आए। वहीं दुकान से शराब कंपनियों के बोर्ड भी नहीं उतारे गए लेकिन आबकारी निरीक्षक केदार शर्मा इसकी सुध लेने मौके पर नहीं पहुंचे। आबकारी निरीक्षक से संपर्क किए जाने पर उन्होंने शराब ठेके पर बोर्ड लगे होने पर अनभिज्ञता जाहिर की। उनका कहना था कि उन्हें दुकान पर बोर्ड नहीं दिखा है। यदि नियम विरुद्ध बोर्ड लगाया गया है तो कार्रवाई कर उसे हटा दिया जाएगा। जबकि ठेके पर शराब कंपनियों के यह बोर्ड महीनों पुराने हैं और पिछले दिनों प्रशासन की कार्रवाई के दौरान कराई गई वीडियो रिकॉर्डिंग में भी ये बोर्ड लगे नजर आए थे।

Ad Block is Banned