MP Elections 2018 इस गांव में राजनीतिक दृष्टि से जातिगत समीकरण है हार-जीत में बड़ा फैक्टर

MP Elections 2018 इस गांव में राजनीतिक दृष्टि से जातिगत समीकरण है हार-जीत में बड़ा फैक्टर

manish Dubesy | Publish: Sep, 16 2018 05:28:57 PM (IST) Sagar, Madhya Pradesh, India

पेयजल की समस्या सिंचाई के लिए कुओं का सहारा

विधानसभा क्षेत्र- नरयावली
बूथ नम्बर- 50
- शासकीय माध्यमिक
शाला भवन मुहली
भाजपा को वोट- 653
बूथ पर कुल मान्य वोट-1040 वोट
सागर. नरयावली विधानसभा का मुहली ग्राम मुख्य मार्ग से जुड़ा है। अधिकतर कृषक वर्ग है। मजदूरी भी यहां के निवासियों की आय का मुख्य जरिया है। कुर्मी, अजा बाहुल्य इस गांव में राजनीतिक दृष्टि से जातिगत समीकरण हार-जीत में
बड़ा फैक्टर हैं।
बूथ ५० पर प्रदीप लारिया को सबसे ज्यादा 653 मत मिले थे। ग्रामीणों के अनुसार पेयजल की समस्या है। शौचालय भी कम बने हैं। सिंचाई के संसाधनों में एक तालाब है, लेकिन अधिकांश खेतों में कुओं से ही सिंचाई होती है। गांव में सड़कों का निर्माण, सामुदायिक व पंचायत भवन का निर्माण ग्रामीण स्वीकारते हैं।
प्रभुदयाल कुर्मी कहते हैं कि गांव में सफाई व्यवस्था ठीक नहीं है। भगवानदास कुर्मी का मानना है कि शौचालय तो बनाए लेकिन राशि नहीं मिली। नलजल योजना पूर्व की है पाइइपलाइन बिछाई गई थी। अब नई पाइपलाइन भी बिछाई गई है, लेकिन पेयजल की समस्या अब भी है। विद्युत योजना का लाभ भी अधिकांश लोगों को नहीं मिल रहा। गांव व आसपास के क्षेत्रों में छोटे-बड़े पुल-पुलिया निर्माण के साथ सीसी रोड भी बने हैं। इस क्षेत्र में विकास की अभी काफी गुंजाइश है।
शिक्षा के क्षेत्र की बात करें तो महाविद्यालय, आईटीआई के कार्य हुए हैं। अस्पताल, कड़ान सिंचाई सहित अन्य परियोजनाएं भी ग्रामीणों को मिली हैं।
इस विधानसभा से मिथक जुड़ा है कि अब तक कोई प्रत्याशी लगातार तीन बार विधायक नहीं चुना गया। हालांकि भाजपा सदर मंडल अध्यक्ष श्याम सुंदर मिश्रा का दावा है कि इस बार मिथक टूटेगा।
कांग्रेस सदर ब्लॉक अध्यक्ष फिरदौस कुरैशी का कहना है कि पिछले सालों में नरयावली विधानसभा में विकास के कार्य नहीं हुए। इस बार पार्टी प्रबंधन ने बूथ स्तर की तैयारियां की हैं। जातिगत समीकरण के बूते समाज में बड़ा बदलाव लाने की कोशिश की जा रही है।

Ad Block is Banned