बारिश न होने से नहीं उगा पूरा बीज, जो अंकुरित हुआ वह सूखने की कगार पर

कीट भी पहुंचा रहे फसल को क्षति

By: sachendra tiwari

Published: 03 Jul 2021, 08:15 PM IST

बीना. मौसम की बेरुखी का असर फसलों पर दिखने लगा है, जिससे किसानों की चिंता बढ़ती जा रही है। जिन किसानों ने गहराई से बोवनी नहीं की है और बारिश न होने के कारण बड़ी मात्रा में बीज खेत में पड़ा हुआ है। साथ ही अंकुरण भी अच्छे से नहीं हुआ। गर्मी के कारण कीट भी फसल को नुकसान पहुंचाने लगे हैं।
अच्छी बारिश होने के बाद लगभग सभी किसानों ने बोवनी कर दी है और शुरुआत में अच्छी बारिश होने के कारण किसानों ने सोयाबीन की उथली बोवनी कर दी थी, इसके बाद बारिश रुकने से बड़ी मात्रा बीज खेत में डला है। साथ ही जो अंकुरण हो रहा वह भी सूखने लगा है। यदि और कुछ दिन तक बारिश नहीं होगी तो अंकुरण खराब हो जाएगा। साथ ही जो फसल बढ़ी हो गई है उसमें कीटों का प्रकोप दिख रहा है और नीचे से फसल को काटने के कारण सूख रही है। अब फसलों को बारिश की जरूरत, क्योंकि बारिश न होने से गर्मी हो रही है और फसल पर इसका प्रभाव दिख रहा है।
गहरी बोवनी वालों को अभी नुकसान कम
किसान मुकेश कुशवाहा ने बताया कि जिन किसानों ने गहरी बोवनी की है वह फसल अभी सुरक्षित है, क्योंकि नीचे नमी ज्यादा है, लेकिन उथली बोवनी वाली फसल बारिश न होने पर कुछ दिनों में ही खराब हो जाएगी। उथली बोवनी का अंकुरण भी सही नहीं हुआ है। फसलों को पान की जरूरत है, पानी की अभाव में फसलें सूख रही हैं।
९५ प्रतिशत हो चुकी है बोवनी
क्षेत्र में करीब ९५ प्रतिशत बोवनी हो चुकी है, जिसमें सबसे ज्यादा रकबा उड़द और सोयाबीन है। इस वर्ष धान का रकबा भी बहुत ज्यादा बढ़ गया है। क्योंकि पिछले वर्षों में किसानों को सोयाबीन, उड़द से नुकसान हुआ है।
गर्मी के कारण फसल हो रही प्रभावित
बारिश न होने और मौसम में गर्मी के कारण कीटों का प्रकोप बढ़ रहा है। फसलों को छींगुर भी काट रहे हैं। उथली बोवनी के कारण बीज नमी में नहीं पहुंचा है, जिससे अंकुरण अच्छा नहीं हुआ है। उथली बोवनी के लिए कुछ दिनों बाद बारिश की जरूरत होती है। जिन किसानों के पास सिंचाई के साधन हैं वह सिंचाई शुरू कर दें।
राकेश परिहार, कृषि विभाग
फैक्ट फाइल
अभी तक बोवनी की स्थिति
फसल रकबा
सोयाबीन १०८५० हें.
धान ६७५०
उड़द १७०००
मूंग १६००
राहर ९५०
मक्का ४००
ज्वार ८५
तिल ४०

sachendra tiwari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned