scriptThere was no cleanliness in the city, heaps of garbage were seen every | शहर में नहीं हुई सफाई, जगह-जगह नजर आए कचरे के ढेर | Patrika News

शहर में नहीं हुई सफाई, जगह-जगह नजर आए कचरे के ढेर

सफाई कर्मचारी रहे हड़ताल पर, निकाली रैली, धरना दिया

सागर

Updated: May 01, 2022 08:16:04 pm

बीना. अखिल भारतीय मजदूर संघ के आह्वान पर रविवार को नगरपालिका के सफाई कर्मचारी सुबह से ही हड़ताल पर रहे। सुबह गांधी तिराहे से रैली शुरू हुई, जो मुख्य मार्गों से होती हुई तिराहे पर ही संपन्न हुई और फिर नगरपालिका परिसर में धरना देकर मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा गया। मांगों को लेकर चरणबद्ध आंदोलन किया जा रहा है। हड़ताल के चलते नगर में कहीं भी सफाई नहीं हुई और जगह-जगह कचरे के ढेर नजर आए। डस्टबिनों का कचरा मुख्य मार्गों पर फैला रहा। साथ ही घर-घर कचरा गाड़ी भी नहीं पहुंची और लोगों ने मजबूरन बाहर कचरा फेंका। हड़ताल को लेकर कर्मचारियों द्वारा पहले से ही ज्ञापन सौंपकर सूचना दी गई थी। साथ ही मांगों को पूरा करने का समय भी दिया था, लेकिन सुनवाई न होने पर पर हड़ताल की गई। धरना स्थल पर कर्मचारियों ने संबोधित करते हुए कहा कि सफाई कर्मचारियों की समस्याओं की ओर अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे हैं, जिससे चरणबद्ध आंदोलन किया जा रहा है। इस अवसर पर अध्यक्ष शंकरलाल बरया, बल्लू मैना, कमलेश, पंकज नाहरिया, पंकज सारवान, राहुल करोसिसा सहित बड़ी संख्या में कर्मचारी शामिल हुए।
पुरानी पेंशन सहित अन्य मांगे हैं शामिल
सफाई कर्मचारियों द्वारा 18 सूत्रीय मांगें की जा रही हैं। जिसमें सफाई कर्मचारियों को पुरानी पेंशन योजना को फिर से बहाल किया जाए, जैसा अन्य राज्यों में किया गया है, नगरपालिका सहित अन्य विभागों में सफाई ठेका प्रथा समाप्त कर स्थाई भर्ती की जाए, नपा और निगमों सहित अन्य विभागों में जो सफाई कामगार संविदा व अंशकालीन रोस्टर या आउट सोर्स पर कार्यरत हैं सभी को स्थाई कर नियमित किया जाए। रोस्टर प्रणाली समाप्त करने और अन्य वर्ग के कर्मचारी रोस्टर पर पहले से सफाई पद पर नियुक्त हैं उनसे सफाई कार्य लिया जाए और उनसे अन्य पदों पर कार्य नहीं कराया जाए। मप्र शासन द्वारा प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड द्वारा भर्ती की जा रही हैं उसे समाप्त कर सफाई कर्मचारियों की सीधी भर्ती की जाए, जो सफाई कर्मचारी अन्य पदों पर कार्यरत हैं, जिसमें वाहन चालक, सुपरवाइजर, फायर हेल्पर आदि उनके पद नाम के साथ समान पद समान वेतन लाभ दिए जाने, मप्र शासन द्वाा आदर्श कर्मिक संरचना 2014 को समाप्त करने सहित अन्य मांगें शामिल हैं।

There was no cleanliness in the city, heaps of garbage were seen everywhere
There was no cleanliness in the city, heaps of garbage were seen everywhere

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Veer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनName Astrology: इन नाम वाले लोगों के जीवन में अचानक से धनवान बनने का होता है योगफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटबुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामबेहद शार्प माइंड होते हैं इन 4 राशियों के लोग, बुध और शनि देव की रहती है इन पर कृपाज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

टेरर फंडिंग केस में यासीन मलिक को उम्र कैद की सजा, 10 लाख का जुर्मानायासीन मलिक की सजा से तिलमिलाया पाकिस्तान, PM शहबाज शरीफ, इमरान खान, शाहिद आफरीदी को आई मानवाधिकार की यादAir Force के 4 अधिकारियों की हत्या, पूर्व गृहमंत्री की बेटी का अपहरण सहित इन मामलों में था यासीन मलिक का हाथअमरनाथ यात्रियों को तीन लेयर में मिलेगी सिक्योरिटी, ड्रोन व CCTV कैमरों के जरिए भी रखी जाएगी नजरमहबूबा मुफ्ती ने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा- आप बता दो कि मुसलमानों के साथ क्या करना चाहते होकपिल सिब्बल समाजवादी पार्टी के टिकट से जाएंगे राज्यसभा, बताई कांग्रेस छोड़ने की वजह16 वर्षीय ग्रैंडमास्टर आर प्रज्ञानानंद ने रचा इतिहास, चेसेबल मास्टर्स के फाइनल में पहुँचने वाले पहले भारतीयलोकसभा चुनाव वाला Yogi का बजट, धर्म के साथ रोजगार, युवा, किसान, महिलाओं को जोड़ेगी सरकार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.