scriptलापरवाह मरीजों पर चोरों की नजर, पलक झपकते ही पार कर देते हैं मोबाइल और पैसे | Patrika News
सागर

लापरवाह मरीजों पर चोरों की नजर, पलक झपकते ही पार कर देते हैं मोबाइल और पैसे

सागर. बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज में मोबाइल और पैसे चोरी की वारदातें लगातार हो रहीं हैं। बदमाशों की नजर उन मरीजों व उनके परिजनों पर होती है जो मोबाइल और कीमती सामग्री को लेकर लापरवाही बरतते हैं। परिसर में घूम रहे बदमाश इतने शातिर हैं कि पलक झपकते ही वारदात को अंजाम देकर रफू चक्कर हो […]

सागरJun 24, 2024 / 11:23 am

Murari Soni

सागर. बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज में मोबाइल और पैसे चोरी की वारदातें लगातार हो रहीं हैं। बदमाशों की नजर उन मरीजों व उनके परिजनों पर होती है जो मोबाइल और कीमती सामग्री को लेकर लापरवाही बरतते हैं। परिसर में घूम रहे बदमाश इतने शातिर हैं कि पलक झपकते ही वारदात को अंजाम देकर रफू चक्कर हो जाते हैं। आरोपी कैमरों के सामने वारदातें कर रहे हैं और बीएमसी चौकी की पुलिस पीडि़तों से सिर्फ आवेदन लेकर अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ लेती है।बीएमसी परिसर में घूमते बदमाश अक्सर रात के समय वारदातों को अंजाम देते हैं। रात में सोते समय मरीज और परिजन लापरवाही बरत रहे हैं। विगत दिन एक युवक ने ओपीडी परिसर में जमीन पर लेटे एक व्यक्ति का मोबाइल चोरी कर लिया। उसी रात उसी युवक ने पहली मंजिल पर गैलरी में सो रहे दूसरे व्यक्ति का भी मोबाइल चोरी कर लिया। जब उनकी नींद खुली तो उनके होश उड़ गए। मोबाइल गायब होने पर पीडि़तों ने इसकी शिकायत बीएमसी पुलिस चौकी में की। पुलिस ने दोनों वारदातों में मोबाइल गुमने का आवेदन लेकर जांच शुरू की। दोनों ही वारदातें सीसीटीवी में कैद हो गईं। कैमरे में एक 25-30 वर्ष का युवक शातिर तरीके से मरीजों के परिजनों का मोबाइल पार करते दिखा। वहीं तीसरी वारदात आपातकालीन वार्ड में हुई जहां मरीज के साथ आए एक अनजान व्यक्ति ने सुरक्षाकर्मी की वर्दी से पैसे पार कर दिया। यह वारदात भी कैमरे में कैद हुई। पीडि़त ने इसकी शिकायत पुलिस में की है।

कैमरे सुधरवाए लेकिन आरोपी सीसीटीवी के सामने ही कर रहे वारदातें-

बीएमसी के अस्पताल परिसर में आए दिन हो रहीं वारदातों को लेकर प्रबंधन ने हालही में करीब 125 सीसीटीवी सुधरवाए हैं। कैमरे चालू हो गए हैं लेकिन वारदातें नहीं रूक रहीं। बेखौफ बदमाश कैमरों के सामने ही चोरियां कर रहे हैं लेकिन पुलिस आरोपियों तक नहीं पहुंच रही। पीडि़तों के आरोप हैं कि मोबाइल चोरी होने के बाद पुलिस सिर्फ आवेदन ले लेती है लेकिन कोई एक्शन नहीं लेती।
-अस्पताल में मरीजों उनके परिजनों की हमेशा भीड़ बनी रहती है, एक-एक व्यक्ति पर नजर रखना मुश्किल है। परिजनों को समझाइश देते हैं कि वह अपनी वस्तुओं, मोबाइल व पैसों को लेकर सतर्क रहें। जो भी वारदातें होती हैं, वह मरीजों और उनके परिजनों की लापरवाही से हो रहीं हैं।
डॉ. राजेश जैन, अधीक्षक बीएमसी।

Hindi News/ Sagar / लापरवाह मरीजों पर चोरों की नजर, पलक झपकते ही पार कर देते हैं मोबाइल और पैसे

ट्रेंडिंग वीडियो