ओवरब्रिज निर्माण के लिए खोदे गए गड्ढे में नहाते समय दो भाइयों सहित तीन बच्चों की मौत, पढ़ें खबर

ब्रिज निर्माण करने वाले ठेकेदार पर एफआइआर के आदेश

By: anuj hazari

Published: 29 Jun 2020, 09:11 PM IST

बीना. शहर की नई सब्जी मंडी के पास ओवरब्रिज के पिलर के लिए खोदे गए गड्ढे में नहाते समय दो सगे भाई सहित तीन बच्चों की पानी में डूबने से मौत हो गई। पुलिस ने तीनों शवों को बाहर निकालकर पंचनामा तैयार कर पीएम कराया गया और शव बच्चों के परिजन को सौंप दिया है। शाम करीब साढ़े पांच बजे जैसे ही गड्ढे में तीन बच्चों के डूबकर मरने की सूचना मिली तो पुलिस के आलाधिकारी मौके पर पहुंचे। इसके बाद एसडीएम और तहसीलदार ने भी मौके पर पहुंचकर घटना की जानकारी ली। गौरतलब है कि सब्जी मंडी के पास ओवरब्रिज का निर्माण किया जा रहा है इसके लिए गड्ढा खोदा गया है, जिसमें रविवार को नहाने के लिए उमेश (12), कान्हा (9) पिता बबलू पंथी व मुलू पिता राजू आदिवासी(16) गड्ढे में उतर गए। गड्ढा गहरा होने के कारण तीनों काल के गाल में समा गए। गड्ढे की गहराई करीब पंद्रह फिट से ज्यादा बताई जा रही है और उसमें नीचे मिट्टी होने के कारण बच्चे धंसने के कारण बाहर नहीं निकल सके। तीनों बच्चे रविवार से गुम थे जिनकी तलाश उनके परिजन कर रहे थे जो उन्हें घटना स्थल से चंद कदम दूर सोमवार को पानी में उतराते हुए मिले। तीनों बच्चे नहाने के लिए ही उतरे थे, क्योंकि गड्ढे के पास में तीनों को कपड़े और जूता-चप्पल मिले हैं। इस घटना के बाद मृतक बच्चों की मां का रो-रो कर बुरा हाल है।
कबाड़ा बेचकर करते थे गुजारा
बच्चों के माता-पिता मजदूरी करते हैं तो वहीं तीनों बच्चे कबाड़ा एकत्रित कर उसे बेंचकर अपना गुजारा करते थे। रविवार को यह तीनों रोज की तरह की कबाड़ा एकत्रित करने के लिए निकले थे, लेकिन फिर वापस नहीं लौटे। तीनों बच्चे परिवार के साथ करीब पंद्रह वर्षों से सब्जी मंडी के शेड में ही रहते हैं इनके पास खुद का घर नहीं है यह केवल रोज कमाकर पेट भरते हैं।
निर्माण एजेंसी की गलती आई सामने
ओवरब्रिज का निर्माण करने वाली कंपनी द्वारा यहां पर लंबे समय से गड्ढे खोदकर छोड़कर खुले छोड़ दिए गए हैं। लॉकडाउन के पहले से ही यहां पर काम बंद था। गड्ढा करने के बाद यदि इसे चारों तरफ से कवर कर दिया जाता तो यह हादसा नहीं होता।
ठेकेदार पर होगी एफआइआर
गड्ढा खोदकर छोड़ देने के कारण ही यह हादसा हुआ है। प्रथम दृष्टता में मामले में ठेकेदार की गलती सामने आई हैं। इस दौरान एसडीएम अमृता गर्ग ने एसडीओपी डीबीसी चौहान, तहसीलदार संजय जैन, टीआई कमल ठाकुर व शहर पटवारी राजेश शर्मा से चर्चा करके ठेकेदार पर एफआइआर करने के निर्देश दिए हैं।

anuj hazari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned