स्मार्ट सिटी में तीन व अमृत योजना में दो पार्कों की बदलेगी सूरत

स्मार्ट सिटी में तीन व अमृत योजना में दो पार्कों की बदलेगी सूरत

Sanket Shrivastava | Publish: Sep, 09 2018 10:00:10 AM (IST) Sagar, MP, India

शेष में नगर सरकार कराएगी काम, इधर कॉलोनियों के पार्कों की स्थिति दयनीय, शहरवासियों

सागर. स्मार्ट सिटी मिशन के तहत शहर के तीन पार्कों का कायाकल्प किया जा रहा है जबकि अमृत योजना के तहत दो नए पार्कों का विकास कार्य शुरू हो गया है। शेष पार्कों की स्थिति ठीक करने के लिए नगर सरकार प्रयास करेगी। महापौर अभय दरे ने बताया कि लोगों को स्वस्थ्य रखने में अच्छे पार्कों की महत्वपूर्ण भूमिका रहती है। चंद्रा पार्क, मधुकरशाह पार्क और बस स्टेंड के पास स्थित डॉ. हरिसिंह गौर पार्क को स्मार्ट सिटी और काकागंज श्मशानघाट के पास व छोटी झील के पास अमृत योजना के तहत दो अलग-अलग पार्कों का निर्माण कराया जा रहा है। शेष पार्कों के लिए जल्द ही प्लानिंग तैयार होगी ताकि सभी शहरवासियों को बेहतर सुविधाएं मिल सकें।
कॉलोनियों में
पार्कों की दुर्दशा
निगम के अधिनिस्थ आने वाले पार्कों की स्थिति उतरी खराब
नहीं है लेकिन कॉलोनियों में जो छोटे-छोटे पार्क बनाए गए हैं,
वे पूरी तरह से दुर्दशा का शिकार हो रहे हैं। वैशाली नगर में
स्थित पार्क, मनोरमा कॉलोनी
में स्थित पार्क, बीएमसी के
पास स्थित पार्क, वीसी बंगला
के पास स्थित स्वामी विवेकानंद जैसे पार्कों की स्थिति दयनीय
है। हालांकि स्वामी विवेकानंद पार्क के रखरखाव की जिम्मेदारी निगम प्रशासन की ही है, इसके बावजूद यहां पर अव्यवस्थाओं का अंबार लगा हुआ है। यह पार्क दयनीय स्थिति में है। पार्कों की सूरत बदलने से लोगों काे सेहत का तो फायदा होगा ही हरियाली भी फैलेगी।
ये है प्लानिंग
काकागंज पार्क : २.५० एकड़ जमीन पर यह पार्क ९० लाख रुपए से बनाया जाएगा। टेंडर प्रक्रिया लगभग पूर्ण।
छोटी झील पार्क : ९.३० एकड़ जमीन पर ३.६६ करोड़ की लागत से बनेगा। टेंडर
प्रक्रिया लगभग पूर्ण।
चंद्रा पार्क, मधुकरशाह पार्क और डॉ. हरिसिंह गौर पार्क : इन तीनों पार्कों का करीब चाढ़े चार करोड़ रुपए से सौंदर्यीकरण होगा। इन तीनों में सबसे बड़ा पार्क चंद्रा पार्क है। टेंडर प्रक्रिया शुरू हो चुकी है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned