एक ही परिसर में संचालित हो रहे तीन प्राथमिक स्कूल

दर्ज संख्या के अनुसार शिक्षक भी हैं ज्यादा

By: sachendra tiwari

Published: 03 Jan 2020, 10:30 AM IST

बीना. शहर में एक ही परिसर में तीन प्राथमिक स्कूल वर्षों से संचालित किए जा रहे हैं, लेकिन अभी तक यहां अधिकारियों द्वारा इन स्कूलों को एक ही स्कूल में समाहित करने के कोई प्रयास नहीं किए गए हैं। साथ ही तीनों स्कूलो में दर्ज संख्या से अधिक शिक्षक भी पदस्थ हैं। जबकि अन्य स्कूलों में शिक्षकों की कमी बनी हुई है। इसके बाद भी अधिकारियों द्वारा यहां ध्यान नहीं दिया जा रहा है।
जवाहर वार्ड में एक ही जगह पर प्राथमिक स्कूल क्रमांक १, प्राथमिक स्कूल क्रमांक 2 और प्राथमिक कन्या स्कूल संचालित किए जा रहे हैं। यहां क्रमांक 1 में 80 विद्यार्थियों पर 6 शिक्षक, क्रमांक 2 में 75 विद्यार्थियों पर 6 शिक्षक और कन्या स्कूल में 70 छात्राओं पर 4 शिक्षक पदस्थ हैं। जबकि दर्ज संख्या के अनुसार यहां 3-3 शिक्षक ही पदस्थ होने थे और यदि इन तीनों स्कूलों को एक कर दिया जाएगा तो यहां से करीब दस शिक्षकों को दूसरे स्कूलों में भेजा जा सकता है, लेकिन अधिकारियों द्वारा इस ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। जबकि यहां शिक्षक अतिशेष हैं। यह स्कूल शहर में होने के कारण अधिकारियों को पूरी जानकारी भी है और कई वर्षों बाद भी कोई प्रयास नहीं किए गए हैं।
ग्रामीण क्षेत्रों के स्कूल अतिथि शिक्षकों के भरोसे
शहर के स्कूलों में शिक्षक दर्ज संख्या के अनुसार अधिक हैं और ग्रामीण क्षेत्रों में अतिथि शिक्षकों के भरोसे स्कूल संचालित हो रहे हैं। आधा दर्जन से अधिक स्कूल ऐसे हैं जो शिक्षक विहीन हैं, यहां एक भी स्थाई शिक्षक पदस्थ नहीं हैं। शिक्षकों की कमी के चलते इन स्कूलों में अध्यापन कार्य भी प्रभावित हो रहा है।
भेजी गई है अतिशेष की सूची
स्कूल में पदस्थ शिक्षक अतिशेष हैं और इनकी सूची जिला कार्यालय में भेजी गई है। वहां से आदेश आने के बाद कार्रवाई की जाएगी। साथ ही एक परिसर में संचालित होने वाले तीनों स्कूलों को एक करने के लिए अगले शैक्षणिक सत्र में प्रयास किए जाएंगे।
जेड इक्का, सहायक संचालक, बीना

sachendra tiwari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned