मुंबई, पुणे से आने वाली ट्रेन के कोचों के साथ शौचालयों में भी नहीं पैर रखने जगह, घर पहुंचने की जद्दोजहद

जहां मिल रही जगह वहां बैठकर कर रहे यात्रा, पलायन जारी

By: sachendra tiwari

Published: 14 Apr 2021, 09:57 PM IST

बीना. महाराष्ट्र में बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर वहां से लोगों का पलायन जारी है। मुंबई और पुणे गोरखपुर जाने वाली ट्रेनें फुल चल रही हैं और लोगों को जहां जगह मिल रही है वहां बैठकर या खड़े होकर यात्रा कर रहे हैं, जिससे वह घर पहुंच सकें।
महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण रोकने के लिए लॉकडाउन लगाने की आहट से ही वहां काम करने वाले लोग वापस लौटने लगे हैं, क्योंकि वह पिछले साल जैसे हालातों से नहीं गुजरना चाहते हैं। यहां से लौटने वाले लोगों में बिहार, यूपी के लोग सबसे ज्यादा हैं। बुधवार की शाम कुशीनगर एक्सप्रेस और पुणे-गोरखपुर स्पेशल ट्रेन फुल थी। कोच में तीन लोगों की क्षमता वाली सीटों पर पांच और छह व्यक्ति बैठे थे और कोच के बीच वाली जगह, गेट पर भी यात्री बैठकर यात्रा कर रहे थे। साथ ही सभी कोचों के शौचालयों में भी पैर रखने जगह नहीं थी। कोरोना गाइडलाइन की भी यात्रा के दौरान धज्जियां उड़ रही हैं। वापस लौट रहे लोगों का कहना है कि वहां लॉकडाउन की स्थिति बन रही है, इसलिए वापस लौट रहे हैं। साथ ही कुछ लोगों ने यूपी में होने वाले पंचायत चुनाव में मतदान करने की भी बात कही।
स्टेशन पर बरती जा रही लापरवाही
ट्रेन में यात्रा करने वाले लोग मास्क नहीं लगा रहे हैं और स्टेशन पर सामान बेचने वाले कई वेंडर बिना मास्क के ट्रेन की खिड़की में से सामान बेचते हुए नजर आए, जिससे संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ता जा रहा है। एक दिन मास्क लगाने की कार्रवाई के बाद इस ओर कार्रवाई नहीं की जा रही है। स्टेशन पर सामान बेचने वाले वेंडर शहर में घूमते हैं और यदि कोई संक्रमित होता है उसके संपर्क में आने वाले कई लोग संक्रमित हो जाएंगे। साथ ही गेट पर खड़े होकर यात्रा करने वाले यात्री प्लेटफॉर्म पर बिना मास्क लगाए घूमते रहते हैं।

sachendra tiwari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned