इस रेलवे स्टेशन पर हवा और ठंडे पानी को तरह रहे यात्री, पढ़े खबर

गर्मी से निपटने स्टेशन पर नहीं कोई भी इंतजाम

By: anuj hazari

Published: 04 Apr 2019, 09:00 AM IST

बीना. भले ही रेलवे स्टेशनों पर यात्री सुविधा बढ़ाने के दावे किए जा रहे हों, लेकिन धरातल पर यह सब बाते हवा नजर आ रही हैं। स्टेशनों की सुविधाओं के सर्वे कराए जा रहे हैं, लेकिन व्यवस्थाओं का सुधार नहीं हो रहा है। रेलवे स्टेशन पर गर्मी से निजात दिलाने के लिए रेलवे प्रबंधन की ओर से कोई भी इंतजाम नहीं किए गए है। यही कारण है कि लोगों को स्टेशन पर ठंडे पानी से लेकर ठंडी हवा तक नहीं मिल पा रही है। जिस बजह से यात्रियों को परेशानियों से जूझकर प्लेटफॉर्म पर इंतजार करना पड़ता है। गौरतबल है कि इस वर्ष किसी भी प्लेटफॉर्म पर लगे वॉटर कूलरों को चालू नहीं किया गया है। स्टेशन पर लगे वॉटर कूलरों से ठंडा पानी नहीं मिल रहा है और यात्री गर्म पानी पीने के लिए मजबूर हैं। जहां रेलवे की ओर से समय पर आदेश जारी कर दिए जाते हैं कि गर्मी आते ही वॉटर कूलर व प्लेटफॉर्म पर लगे पंखे चालू कर दिए जाएं, लेकिन ऐसा बीना स्टेशन पर नहीं हो रहा है। स्टेशन पर लगे पंखे गर्मी आने के बाद चालू तो कर दिए जाते हैं, लेकिन आए दिन पंखें बंद होने के कारण इनकी हवा नहीं मिल पाती है। बुधवार को भी कुछ ऐसा ही हुआ, स्टेशन के सभी प्लेटफॉर्मों पर लगे पंखे बंद रहे, लेकिन संबंधित विभाग के अधिकारियों ने इन्हें चालू कराना जरुरी नहीं समझा। सूत्रों की माने तो अधिकारी टेक्नीकल दिक्कत बताकर पंखे बंद करा देते है और तपन में एक मिनट भी खड़ा होना मुश्किल हो जाता है। वहां यात्रियों को घंटों गर्मी में ही गुजारना पड़ते हैं।
ठंडे पानी की आस में भटकते हैं यात्री
रेलवे स्टेशन पर यात्रियों को ठंडा पानी मिले इसके लिए रेलवे ने स्टेशन पर वॉटर कूलर लगवाए गए हैं, लेकिन अधिकारियों की लापरवाही से इन्हें चालू नहीं कराया गया है। कोई यात्री ठंडा पानी नहीं मिलने की शिकायत करने के लिए जाता है तो उसे यह कहकर वापस लौटा दिया जाता है कि यात्रियों द्वारा लगातार पानी भरने के कारण वॉटर कूलर में पानी ठंडा नहीं हो पा रहा है। यही कारण है कि लोग गर्म पानी पीने के लिए मजबूर है।
स्टॉल संचालकों को हो रहा फायदा
रेलवे स्टेशन पर वॉटर कूलर बंद हैं, जिसका फायदा स्टॉल संचालक उठा रहे हैं। वॉटर कूलर बंद रहते हैं तो यात्रियों को मजबूरी में स्टॉलों से ठंडा पानी खरीदना पड़ता है।
फैक्ट फाइल
- स्टेशन पर पंखे - 350 लगभग
- प्रत्येक दिन स्टेशन से यात्रा करने वाले यात्री - 15 हजार करीब

anuj hazari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned