साबुन फैक्ट्री में दो मजदूरों की तबीयत बिगड़ी, एम्बुलेंस में कराया चेकअप

22 मार्च को मुम्बई से आया था केमिकल

सागर. औद्योगिक क्षेत्र स्थित साबुन फैक्ट्री में दो दिन पहले आए दो बाहरी लोगों को अपनी सुरक्षा में लेकर बहेरिया थाना क्षेत्र में तैनात 108 एम्बुलेंस द्वारा स्वास्थ्य परीक्षण कराया गया है। दोनों को फिलहाल संक्रमणमुक्त पाया गया है। फैक्ट्री में मुम्बई से ट्रक के साथ आए दोनों मजदूरों के बीमार होने की सूचना आसपास के लोगों ने डायल-100 पर दी थी। जिसके बाद कोरोना वायरस के संक्रमण की आशंका के चलते पुलिस हरकत में आ गई। जैसे ही पुलिस और एम्बुलेंस वाहन फैक्ट्री पहुंचा वहां हडक़ंप मच गया। कुछ ही देर में आसपास के कारखानों में भी सन्नाटा पसर गया। पुलिसकर्मियों ने फैक्ट्री के गेट पर तैनात सुरक्षाकर्मी से बात की और अंदर मौजूद दोनों बाहरी मजदूरों को जांच के लिए अपने साथ लेकर रवाना हो गए। बहेरिया थानांतर्गत औद्योगिक क्षेत्र चना टौरिया में एक साबुन की फैक्ट्री में बाहरी मजदूरों के आने और उनके बीमार होने की सूचना पर 108 एम्बुलेंस लेकर इएमटी बारेलाल सेन और पायलेट नवीन अग्निहोत्री शाम 4.20 बजे मौके पर पहुंचे। पुलिस व एम्बुलेंस के पहुंचने से फैक्ट्री के गेट पर तैनात सुरक्षाकर्मी व अंदर मौजूद लोगों में खलबली मच गई।पूछताछ करने पर एम्बुलेंसकर्मियों को बताया गया कि कानपुर जिले के निवासी दो मजदूर मुम्बई से लोड हुए ट्रक के साथ सागर आए थे।
22 मार्च को ट्रक फैक्ट्री पहुंचा और तभी लॉक डाउन के आदेश जारी होने से वे यहीं पर अटक गए थे। दोनों के बीमार होने के कारण एम्बुलेंसकर्मी उन्हें एहतियात बरतते हुए अस्पताल लेकर आए जहां उनका चेकअप किया गया। वे फैक्ट्री के लिए केमिकल लेकर आए ट्रक में सवार थे और उसी की गंध के कारण सर्दी-जुकाम हो गया था। स्वास्थ्य परीक्षण में दोनों के सामान्य मिलने पर उन्हें संक्रमण से बचने की हिदायत देते हुए फैक्ट्री छोड़ दिया गया है।

Sanket Shrivastava Desk/Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned