डिजिटल घपला : दो मस्टर रोल में फर्जी खाते दर्ज कर हड़पे तीस हजार

डिजिटल घपला : दो मस्टर रोल में फर्जी खाते दर्ज कर हड़पे तीस हजार

Hamid Khan | Publish: Mar, 14 2018 03:18:00 PM (IST) Sagar, Madhya Pradesh, India

केसली ग्राम पंचायत की राशि सिवनी, होशंगाबाद के मजदूरों ने निकाली
जपं सीईओ ने एफआईआर दर्ज कराने पुलिस को लिखा पत्र

केसली. ग्राम पंचायत केसली में फर्जी खातों के माध्यम से शासकीय योजना मनरेगा की राशि आहरित करने का मामला सामने आया है। जनपद पंचायत केसली की सीईओ अंजना नागर ने विगत दिवस पुलिस को पत्र लिखा है। जिसमें बताया कि ग्राम पंचायत के मनरेगाा काम के तहत फर्जी तरीके से राशि आहरित की गई। जिसके आरोपियों पर एफआईआर दर्ज की जाए।

खाली जगह पर दर्ज किए फर्जी खाता नंबर: जनपद पंचायत से केसली पुलिस को जारी पत्र में सरपंच सचिव व रोजगार सहायक द्वारा जानकारी दी गई जानकारी के आधार पर प्राथमिकी दर्ज करने की बात कही है। वहीं पुलिस को एक ओर पत्र ग्राम पंचायत केसली ने भी लिखा है जिसमें उल्लेख किया गया है कि ग्राम पंचायत केसली में बीएसएनएल टावर से विवेकानंद चौराहे तक पक्की नाली निर्माण का काम कराया जा रहा है, जिसमें ग्राम पंचायत द्वारा मस्टरोल जारी कराए गए थे। जारी हुए इन मस्टरोल में आठ मजदूरों के खाते उपलब्ध न होने के कारण खाते नंबर का कालम खाली था। ग्राम पंचायत रोजगार सहायक लालसाब पटैल ने मजदूरों के खाता नंबर एकत्र कर दर्ज करने साईड खोली तो उसमें कुछ मजदूरो के खाते नंबर पहले से ही दर्ज मिले व जिनसे राशि भी आहरित हो चुकी है।

जिसकी जानकारी रोजगार सहायक ने पंचायत सचिव व सरपंच को दी। इसके बाद जानकारी बैंक पहुंचे जहां 6 बैंक खातों से खंडेराव वार्ड देवरी, सिवनी व एक खाता होशंगाबाद के निवासियों के नाम से पाया गया। रोजगार सहायक सचिव व सरपंच ने इसकी सूचना सीईओ केसली को दी। केसली सीईओ ने पुलिस से दोषियों पर अपराधिक मामला दर्ज करने की बात कही है।

कोड के जरिए होती है फीडिंग
ग्राम पंचायत में जारी निर्माण कार्यो के लिए मस्टर रोल मांग रोजगार सहायक द्वारा कम्प्यूटर में फीड की जाती है। इसके लिए प्रत्येक ग्राम पंचायत के रोजगार सहायक के पास एक यूनिक कोड होता है। मस्टर रोल जनपद पंचायत से स्वीकृत होकर जिला पंचायत में अनफ्रीज होता है। केसली के रोजगार सहायक लालसाब पटैल ने बताया जनपद के पासवर्ड से सभी ग्राम पंचायतों को लॉगइन किया जा सकता है। वहीं केसली सीईओ ने रोजगार सहायक के पासवर्ड के चोरी होने की बात कह रही है।

हो सकती है कई विसंगति
ग्राम पंचायत केसली के रोजगार सहायक ने बताया कि किसी अज्ञात व्यक्ति ने आठ फर्जी खाते फीड कर राशि आहरित कर ली है। जो करीब तीस हजार रुपए है। इन खातो में कविता सरस्वती नगर शिव शक्ति नगर रजुलिया होशंगाबाद, संजय खादा टोना लखनादौन मलवा सिवनी होशंगाबाद, अमित हीरापुर गोदा डोगरी सिवनी, मोहन खंडेराव वार्ड देवरी, मीना बाल्मीक खंडेराव वार्ड देवरी, रेवती खंडेराव वार्ड देवरी, पूर्णिमा खंडेराव वार्ड देवरी के नाम दर्ज है।

ग्राम में बीएसएनएल टॉवर से विवेकांनंद चौराहे पर मनरेगा का काम चल रहा है जिसमें फर्जी आहरण की जानकारी मिलने पर सीईओ व पुलिस को सूचना दी।

- निर्मल साहू, सरपंच केसली

ग्राम पंचायत के सरपंच सचिव व रोजगार सहायक के अवगत कराने के बाद मैंने पुलिस को एफआईआर दर्ज कराने को कहा है। रोजगार सहायक सहायक के कोड चोरी होना इस लापरवाही की बजह हो सकती है।
अंजना नागर, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जपं केसली जांच के बाद दोषियो पर मामला होगा दर्ज
- जसदीप भदौरिया, थाना प्रभारी

आवेदन दिया
रोजगार सहायक द्वारा फर्जी खातों के माध्यम से राशि आहरित होने की सूचना मिलने पर सीईओ को हमारे द्वारा जानकारी दी गई है। इसके बाद पुलिस को एफआईआर के लिए आवेदन दिया।
- मनीष दुबे, सचिव ग्राम पंचायत केसली

पहले से दर्ज नंबर
मजदूरों के खाते उपलब्ध न होने से खाली छोड़़े गए थे। खाता प्राप्त होने पर फीड करने साइट खोली तो उसमें पहले से ही कुछ खााता नंबर दर्ज पाए गए। जनपद ओर जिला पंचायत में भी होता है पासवर्ड।
- ललसाब पटैल, रोजगार सहायक ग्राम पंचायत केसली

Ad Block is Banned