scriptअघोषित कटौती की, 5-5 दिन नल नहीं खोले, इसलिए राजघाट में अब भी बच गया 12 से 14 दिन का पानी | Patrika News
सागर

अघोषित कटौती की, 5-5 दिन नल नहीं खोले, इसलिए राजघाट में अब भी बच गया 12 से 14 दिन का पानी

शहर और मकरोनिया में नियमित सप्लाई हो तो 10 से 12 दिन में इंटकवेल पंपहाउस से दूर हो जाएगा पानी सागर. नगर निगम प्रशासन ने इस गर्मी में लोगों को पेयजल के नाम पर जमकर परेशान किया है। अघोषित कटौती के साथ ही शहर में चार से पांच दिनों के अंतराल से पेयजल की आपूर्ति […]

सागरJun 09, 2024 / 12:18 pm

अभिलाष तिवारी

शहर और मकरोनिया में नियमित सप्लाई हो तो 10 से 12 दिन में इंटकवेल पंपहाउस से दूर हो जाएगा पानी

सागर. नगर निगम प्रशासन ने इस गर्मी में लोगों को पेयजल के नाम पर जमकर परेशान किया है। अघोषित कटौती के साथ ही शहर में चार से पांच दिनों के अंतराल से पेयजल की आपूर्ति की, जिससे राजघाट में कुछ दिनों की सप्लाई का पानी तो बच गया लेकिन जनता को खूब परेशान होना पड़ा। वर्तमान में राजघाट का जलस्तर 508.04 मीटर के पास चल रहा है। ऐसे में यदि निगम प्रशासन सागर शहर और मकरोनिया में प्रतिदिन सप्लाई करता है तो आगामी 12 से 14 दिनों में राजघाट बांध में इंटकवेल पंपहाउस से पानी दूर पहुंच जाएगा। विशेषज्ञों की माने तो निगम प्रशासन को जून के दूसरे सप्ताह से बांध से पानी की लिफ्टिंग शुरू करनी पड़ सकती है। वहीं सूत्रों की माने तो निगम प्रशासन किसी तरह से समय काट रहा है और मानूसन आने का इंतजार कर रहा है। शहर का तापमान 40 डिग्री के ऊपर होने पर बांध में तेजी से वाष्पीकरण होता है। यही वजह है कि पिछले एक महीने में निगम प्रशासन ने सप्ताह में एक या दो बार ही कुछ क्षेत्रों में सप्लाई की, फिर भी बांध का जलस्तर तेजी से गिरा है।

8 साल बाद बने ऐसे हालात

वर्ष-2016 में राजघाट बांध में जलस्तर इतने नीचे तक आया था। इस बार पानी प्रबंधन की ओर ध्यान न देने के कारण ये स्थिति निर्मित हुई है। बांध का कैचमेंट एरिया बहुत बड़ा और अच्छा है। हर बारिश में बांध ओवरफ्लो हो जाता है लेकिन फिर भी गर्मी के मौसम में इसमें इंटकवेल पंपहाउस से पानी दूर पहुंच जाता है।

12 से 14 दिनों की है चुनौती

मौसम विशेषज्ञों की माने तो मानसून अपने तय समय पर ही पहुंच रहा है। 21 जून तक सागर में मानसून आ जाएगा। इसके साथ ही प्री-मानसून के तहत भी अच्छी बारिश होने की उम्मीद है। ऐसे में निगम प्रशासन के सामने पानी लिफ्टिंग की चुनौती सिर्फ 12 से 14 दिनों की ही है।

फैक्ट फाइल

– 506 मीटर है बांध में स्थित बेवस नदी का डेड लेवल

– 507 मीटर पर है बांध का डेड लेवल

– 507.50 मीटर पर जलस्तर पहुंचने पर करनी पड़ती है पानी की लिफ्टिंग
– 5 इंच से ज्यादा प्रतिदिन रीत रहा बांध

Hindi News/ Sagar / अघोषित कटौती की, 5-5 दिन नल नहीं खोले, इसलिए राजघाट में अब भी बच गया 12 से 14 दिन का पानी

ट्रेंडिंग वीडियो