जिम्मेदारों ने की अनदेखी तो ऑटो चालकों ने श्रमदान कर भर दिए विवि सड़क के गड्ढे

भारी वाहनों के कारण पाइपलाइन फूटने-लीकेज के कारण बार-बार उखड़ जाती है सड़क

By: संजय शर्मा

Published: 30 Dec 2018, 12:55 PM IST

सागर. विश्वविद्यालय मार्ग के गड्ढों के कारण आए दिन हो रहे हादसों पर जिम्मेदारों की अनदेखी पर शनिवार को ऑटो रिक्शा चालकों ने करारा जवाब दिया। दोपहर में गोपालगंज ऑटो रिक्शा यूनियन के सदस्यों ने सिविल लाइन थाने से एफएसएल के बीच सड़क के गड्ढे भरना शुरू कर दिया। अचानक ऑटो रिक्शा चालकों के सड़क के गड्ढे भरते देख वहां से गुजर रहे लोग हैरान थे और हर कोई वाहन रोककर इसके बारे में पूछताछ कर रहा था। ऑटो चालकों ने करीब दो घंटे श्रमदान कर विवि सड़क के गड्ढों को चूरी से भर दिया।
केंद्रीय विश्वविद्यालय होते हुए फोरलेन हाइवे को जोडऩे वाली सड़क से प्रतिदिन विद्यार्थियों और शिक्षकों के अलावा बड़ी संख्या में सुरखी-रहली व क्षेत्र के छोटे-बड़े वाहन आते-जाते हैं। इसी सड़क से भारी भरकम डंपर भी बड़ी संख्या में गुजरते हैं। इस वजह से सड़क पर काफी भार रहता है और सड़क के नीचे से गुजरी पाइप लाइन बार-बार दबाव के कारण फूट जाती है या उससे पानी रिसकर बहने लगता है। लगातार इस पानी की वजह से सड़क का डामर उखड़ जाता है और वहां गड्ढे हो जाते हैं। केंद्रीय विवि के दीक्षांत समारोह में राष्ट्रपति डॉ.रामनाथ कोविंद के आगमन के समय प्रशासन के निर्देश पर इस सड़क की मरम्मत कराई गई थी लेकिन पाइपलाइन के लीकेज को अनदेखा करने से कुछ ही दिन बाद सड़क फिर से उखड़ गई और अब गड्ढे पहले से ज्यादा बड़े हो गए हैं।

सिविल लाइन पुलिस थाना से एफएसएल के बीच सड़क के गड्ढे हादसों की वजह बन रहे हैं। जगह-जगह गड्ढों के कारण विवि जाने वाली विद्यार्थी और आम बाइक सवार ही नहीं कई ऑटो रिक्शा पलटने से लोग घायल हो चुके हैं। विगत रात्रि ऑटो रिक्शा पलटने की घटना और लोक निर्माण विभाग व प्रशासन तक खबर पहुंचाने के बाद भी जब किसी ने इस पर ध्यान नहीं दिया तो शनिवार को गोपालगंज ऑटो रिक्शा यूनियन के मूलचंद यादव, यूटीडी, राजू रजक, निहाल रजक, मुकेश रजक और भगवत प्रसाद अन्य दर्जन भर साथियों को लेकर पहुंचे और सड़क के गड्ढों को भरना शुरू कर दिया। करीब दो घंटे तक ऑटो रिक्शा चालकों ने मशक्कत की।


जिम्मेदार न सुनें तो जनता को करना पड़ता है -

ऑटो चालकों का कहना था कि जिम्मेदारों की अनदेखी से कई लोग चोटिल हो रहे हैं। एेसे में जब कोई नहीं सुन रहा तो लोगों को ही आगे आना पड़ रहा है लेकिन यह स्थाई समाधान रहीं है। पाइप लाइन के लीकेज के पुख्ता इंतजाम किए जाने चाहिए आगे से यह समस्या खड़ी न हो। इस दौरान बड़ी संख्या में वहां से गुजरते लोगों ने वाहन रोककर ऑटो रिक्शा चालकों के इस प्रयास की सराहना भी की।

संजय शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned