14 की मौत: सात मृतकों की जांच में पाया गया हेपेटाइटिस बी, टीम ने सर्वे कर बताई टीकाकरण की जरूरत

डॉक्टर्स ने मृतकों के परिजनों से चर्चा कर देखी पीलिया की रिपोर्ट, सामने आई जानकारी

By: govind agnihotri

Published: 24 May 2018, 11:19 AM IST

सागर. मकरोनिया में पीलिया के संक्रमण से शंकरगढ़ और रजाखेड़ी क्षेत्र के 14 लोगों की मौत के बाद स्वास्थ्य अमले के साथ ही मेडिकल कॉलेज की टीम भी सक्रिय हो गई है। बुधवार को बीएमसी के चिकित्सकों के दल ने संक्रमित क्षेत्र का सर्वे कर पीडि़त परिवारों से मुलाकात की। एक्सपर्ट द्वारा बीमारी के संक्रमण से बचाव और जरूरी सावधानियों के बारे में भी जानकारी दी गई।


मौत का शिकार हुए सात लोगों में जांच के दौरान हेपेटाइटिस बी का संक्रमण पाया गया है। चिकित्सकों के दल ने बस्ती के पीडि़त परिवारों में टीकाकरण कराने की अनुशंसा की है। पीलिया के संक्रमण के कारण इनदिनों मकरोनिया के शंकरगढ़-रजाखेड़ी व आसपास की बस्तियों में लोगों में दहशत जैसा माहौल है। दूषित-गंदे पानी के कारण बीमारी की चपेट में आकर एक दर्जन से ज्यादा लोगों की मौत के बाद अब प्रशासन और स्वास्थ्य अमला सक्रिय हो गया है।


दोपहर में बीएमसी के प्रिवेंटिव सोशल मेडिसिन विभाग के सहायक प्राध्यापक डॉ. अमरनाथ गुप्ता, विभाग के प्रदर्शक डॉ. उमेश पटेल की टीम लैब टेक्नीशियन जितेन्द्र त्रिपाठी के साथ मकरोनिया पहुंची व संक्रमण प्रभावित क्षेत्रों का सर्वे किया।


विशेषज्ञों के दल ने बीमारी के संबंध में पीडि़त परिवार के सदस्यों से भी बातचीत की और सफाई, दूषित पेयजल का भी जायजा लिया। टीम के सदस्यों ने 9 मृतकों के परिजनों से चर्चा कर उनकी जांच रिपोर्ट का निरीक्षण किया तो 7मृतकों में हेपेटाइटिस बी का संक्रमण पाया गया। एक की जांच नहीं कराई गई थी जबकि दूसरे की रिपोर्ट नेगेटिव थी। टीम ने क्षेत्र में पीलिया के संक्रमण की स्थिति को देखते हुए यहां के पीडि़त व अन्य परिवारों में हेपेटाइटिस बी का टीकाकरण कराने की जरूरत बताई है।

स्वास्थ्य अमले ने किया टीकाकरण
डॉ. रूपेंद्र पटेल ने बताया कि सुबह १० बजे से शाम ५ बजे तक कोरेगांव में शिविर लगाया गया, जहां १५८ महिला, पुरुष और बच्चों के स्वास्थ्य का परीक्षण हुआ। ८ संदिग्ध मरीजों का किड के माध्यम से सैंपल जांच की गई, जो निगेटिव निकली है। इसके अलावा ८२ लोगों का मलेरिया व हीमोग्लोबिन आदि की जांच उपरांत टीकाकरण किया गया है। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पीलिया से मरने वाले लोगों के घर के आसपास रहने वाले अन्य परिवार के सदस्यों का भी स्वास्थ्य परीक्षण किया।

Show More
govind agnihotri Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned