video: ग्रामीणों ने रोकी डीआरएम की टॉवर बैगन, कहा जोधपुर-भोपाल का फिर शुरू कराएं स्टॉपेज

डीआरएम ने महादेवखेड़ी स्टेशन व बीओआरएल का किया निरीक्षण

By: anuj hazari

Published: 05 Sep 2019, 09:00 AM IST

बीना. भोपाल मंडल डीआरएम उदय वोरवणकर ने बुधवार को मालखेड़ी, महादेवखेड़ी व बीओआरएल का टॉवर बैगन से निरीक्षण किया और अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। निरीक्षण से लौटते समय देहरी गांव के लोगों ने रास्ते में उनका टॉवर बैगन रुकवाकर समस्याओं से अवगत कराया और कुछ मांगों को लेकर ज्ञापन दिया। डीआरएम सुबह 11 बजे झेलम एक्सप्रेस से बीना स्टेशन पहुंचे जहां से टॉवर बैगन से सीधे मालखेड़ी स्टेशन पहुंचे और वहां चल रहे काम को देखा, इसके बाद वह सीधे महादेवखेड़ी स्टेशन पहुंचे जहां दूसरी लाइन के लिए चल रहे काम की प्रगति देखी। उन्होंने संबंधित अधिकारियों से काम की जानकारी लेकर आवश्यक निर्देश दिए। इसके बाद जब वह निरीक्षण करके बापस लौटे तो देहरी गांव सहित करीब आधा दर्जन से ज्यादा गांव के करीब पचास से ज्यादा लोग देहरी रेलवे गेट पहुंचे और डीआरएम का टॉवर बैगन रोककर उन्हें समस्याओं से अवगत कराया। ग्रामीणों ने कहा कि बारिश होते ही देहरी गांव के पहले रेलवे अंडरब्रिज में पानी भर जाता है, जहां से जाने वाले करीब दो दर्जन से ज्यादा गांव के लोग परेशान होते रहते हैं, लेकिन फिर भी समस्या का समाधान नहीं किया गया है, उन्होंने डीआरएम को ज्ञापन सौंपा और भोपाल-जोधपुर एक्सप्रेस का महादेवखेड़ी स्टेशन पर स्टॉपेज दिलाने की मांग की। इस टे्रन का पिछले वर्ष तक महादेवखेड़ी स्टेशन पर स्टॉपेज था, लेकिन ट्रेन के एक्सप्रेस में अपग्रेड होने के बाद इसका स्टॉपेज बंद कर दिया गया है। डीआरएम ने जल्द ही समस्या का समाधान करने का आश्वासन दिया। ज्ञापन सौंपने वालों में लोकेन्द्र सिंह ठाकुर, मुन्ना सिंह ठाकुर, अमरप्रतापसिंह ठाकुर, संतोष सिंह, मानसिंह, रामसखी, मिथलेश, धु्रव पटैरिया, सरोज, जितेन्द्र सिंह, स्वदेश, संजय सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण शामिल हैं।
डब्ल्यूसीआरइयू ने रेलवे समस्याओं के संबंध में सौंपा ज्ञापन
रेलवे यूनियन डबल्यूसीआरइयू के सदस्यों ने मंगलवार को डीआरएम के पहुंचने पर रेलवे स्टेशन व कर्मचारियों की समस्याओं से संंबंधित ज्ञापन सौंपा। जिसमेंं उल्लेख किया गया कि आरआरआई में पीने का गंदा पानी आता है, जिससे स्टाफ के लोग बीमार हो रहे, लेकिन सुधार नहीं किया जा रहा है, स्टेशन मास्टर की पदोन्नति लिस्ट जारी होने के बाद उन्हें तुरंत रिलीव करने का दबाव बनाया जा रहा है जबकि उनके रिलीवर नहीं भी नहीं भेजे गए हैं, जिससे कर्मचारी 12-12 घंटे ड्यूटी कर रहे हैं और उन्हें छुट्टी भी नहीं दी जा रही है। इसके अलावा सुपरवाइजर एसएसई सीएण्डडब्ल्यू एसके गौर, जेई महेन्द्र कुशवाहा, सीओएम सहदेव भारती के लिए चार साल से ज्यादा होने के बाद भी रोटेशन ट्रांसफर नहीं किया गया है। थर्ड लाइन पर रोस्टर के अनुसार आठ घंटे के बजाए 12 घंटे की ड्यूटी लगाई जा रही है। स्टेशन पर मेल गार्ड की गाडिय़ां कम की जा रही है, इसलिए बीना से आगरा व भुसावल तक टे्रन बीना के गार्ड से चलवाने, रेलवे अस्पताल में डॉक्टरों की कमी दूर करने सहित अन्य मांगें शामिल हैं। इस अवसर मुख्य शाखा सचिव संजय जैन, रेल संस्थान सचिव रवि राय, केके राय, एसके सैनी सहित अन्य लोग शामिल हैं।

anuj hazari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned