दृष्टिहीन को घर में शौचालय की दरकार, जनसुनवाई में एेसे की मांग

शौचालय ना होने से बाहर जाना पड़ता है, यह शर्म की बात है

By: नितिन सदाफल

Published: 16 May 2018, 10:36 AM IST

सागर. जिले के दिव्यांग लोगों के लिए अपनी समस्याओं के निराकरण लेकर कलेक्ट्रेट में भटकना पड़ रहा है। सागर नगर से सटे ग्राम गुड़ा से आए दृष्टिहीन मुकेश अपने घर में शौचालय बनवाने के लिए प्रयासरत है।
उसने बताया कि शौचालय ना होने से बाहर जाना पड़ता है, यह शर्म की बात है। उन्होंने कलेक्टर की जनसुनवाई में शौचालय निर्माण की मांग की। इसी तरह से दिव्यांग मीना पटेल ने अपनी समस्याओं को लेकर जनसुनवाई में आवेदन दिया

चौकी प्रभारी पर मारपीट का आरोप
जनसुनवाई में छतरपुर जिले के ग्राम रामटोरिया निवासी गोरेलाल अहिरवार ने बताया कि पिछले दिनों उसकी अपनी पत्नी से किसी बात को लेकर विवाद हो गया था, इसकी शिकायत पत्नी ने थाना बमनोरा की चौकी रामटोरिया में की थी। चौकी प्रभारी ने चौकी बुलाकर मारपीट की। चौकी प्रभारी ने डंडों से पिटाई की है, जिससे वह चलने में असमर्थ हो गया है। आईजी को दिए आवेदन में गोरेलाल ने चौकी प्रभारी को निलंबित कर जांच करने की मांग की है। जन सुनवाई में कुटीर, जमीन पर अवैध कब्जा, उपचार आदि के लिए भी जिले के दूर दराज से आए लोगों ने आवेदन दिए। जन सुनवाई कर रहे अधिकारियों ने संबंधित विभाग को समस्या निराकरण के निर्देश दिए हैं।

दो महीने काम कराकर भागा बिजली कंपनी का ठेकेदार
बिजली कंपनी द्वारा बेरोजगार युवकों को रोजगार ? देने के नाम पर १०-१० हजार रुपए वसूले गए और दो महीने काम कराने के बाद फरार हो गया। शिकायत लेकर जनसुनवाई में आए रामकुमार ठाकुर ने बताया कि देवराज सेन ने निजी कंपनी द्वारा मीटर रीडिंग का काम देने के एवज में पहले १०-१० हजार रुपए लिए, उसके बाद ग्रामीण क्षेत्रों में उनसे मीटर रीडिंग कराई। दो महीने काम करने के बाद जब वेतन मांगा तो फर्जी चेक थमा दिए। तब से वह फरार है। शिकायत करने वालों में मनोज सिंह, प्रभात सिंह, रामकुमार, कपिल सेन, रविंद्र आदि थे।

नितिन सदाफल Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned