चिह्नित वार्डों को नहीं बल्कि जो पूरे शहर को स्मार्ट बनाएगा उसी को देंगे वोट

चिह्नित वार्डों को नहीं बल्कि जो पूरे शहर को स्मार्ट बनाएगा उसी को देंगे वोट

Samved Jain | Publish: Nov, 10 2018 12:52:43 PM (IST) Sagar, Madhya Pradesh, India

सागर में स्मार्ट सिटी के तहत सिर्फ १९ वार्डों में ही होना है अभूतपूर्व परिवर्तन, दशकों में नहीं बदली तस्वीर, चुनते गए सरकारें। वहीं बीना में दोनों प्रमुख दलों के प्रत्याशी घोषित होने के बाद लोगों ने रखी अपनी मांग

सागर. एक के बाद एक विधानसभा चुनाव आते-जाते रहे, हम मतदान करते रहे लेकिन सागर की तस्वीर में आज भी विकास के रंग नहीं दिख रहे हैं। फिर एेसे लोगों को चुनने का क्या फायदा, जो क्षेत्र का विकास न कर सकें। स्मार्ट सिटी योजना के तहत सिर्फ १९ वार्डों में ही अभूतपूर्व परिवर्तन होना है, शेष २९ वार्डों में सिर्फ एक विकल्प के तहत प्रयास होंगे। इसलिए हम एेसे प्रत्याशी को चुनेंगे जो पूरे शहर के विकास को तबज्जो दे। यह कहना है सागर विधानसभा क्षेत्र के मतदाताओं का। शहरवासी इस बार खोखले दावों-वादों की जगह ठोस प्लानिंग के तहत शहर का विकास चाह रहे हैं।
नहीं बदल पाई तस्वीर
संभागीय मुख्यालय होने के बाद भी सागर शहर की तस्वीर नहीं बदल पाई है। तंग गलियां, यातायात जाम, सड़कों पर मवेशी, लचर स्वास्थ्य व शिक्षा व्यवस्था समेत दर्जनों अव्यवस्थाएं शहर में जस की तस हैं। बडे़ मामलों में झील, निगम का सीमा विस्तार, शुद्ध पेयजल जैसे गंभीर मामले भी शामिल हैं।
दशकों से शहर एक पैसा है। इसमें कोई बदलाव नहीं हुआ और न ही कोई विकास कार्य दिख रहा है। जो प्रत्याशी बदलाव लाने के लिए सशक्त दिखेगा -उसे ही चुनेंगे।
महिमा चतुर्वेदी
शिक्षा व स्वास्थ्य पर बेहतर काम होना चाहिए, जो आम लोगों की सोचेगा उसके बारे में शहर का हर मतदाता सोचेगा।
-अमित जैन
शहर में कई धरोहरें हैं, इनको सहेजने के लिए कोई भी आगे नहीं आया है। मैं इसी बात को प्राथमिकता में रखकर मतदान करूंगा। लाखा बंजारा झील का उद्धार हो।
-राकेश विश्वकर्मा
स्मार्ट सिटी में चंद वार्डों को ही विकसित किया जाना है, जो प्रत्याशी शेष वार्डों पर भी ध्यान देगा, उसको चुनेंगे। शहर का संपूर्ण विकास हो।
-संजय शुक्ला
बीना के लोगों ने कहा हमें चाहिए ऐसा विधायक जो बेरोजगारी करे खत्म
बीना. विस चुनाव के मतदान के लिए आज से १८ दिन शेष हैं। दोनों प्रमुख दलों समेत सभी पार्टियों के प्रत्याशी जनता के बीच वोट मांगने के लिए पहुंचने लगे हैं वहीं दूसरी ओर जनता ने अपनी मांगों व क्षेत्र के विकास को लेकर कुछ अलग ही सोच बना ली है। लोगों का मानना है कि घोषणा-पत्र में जो भी वादे शामिल हों, उन्हें निर्वाचित होने वाला विधायक ढाई साल में पूरा करे। जो प्रत्याशी नगर के बेरोजगारों को रोजगार दिलाने का वादा करेगा उसे ही अपना विधायक चुनेंगे। नगर में बीओआरएल व जेपी पावर प्लांट जैसे बड़े उद्योग स्थापित हैं जहां पर अन्य शहरों से आकर बड़ी संख्या में लोग काम कर रहे हैं लेकिन क्षेत्रीय लोगों को मौका नहीं दिया जा रहा है।
जिला भी है मुख्य मुद्दा
सालों से बीना को जिला बनाने की मांग की जा रही है। इस बार जनता का रुख उस प्रत्याशी को चुनने का है जो बीना को जिला बनाने की मांग को अपने घोषणा पत्र में शामिल करके उसे पूरा करेगा।
विकास की रुपरेखा और प्रत्याशी को देखकर मतदान करेंगे, जिससे क्षेत्र का विकास हो सके। अभी हो यह रहा है कि उम्मीदवार क्षेत्र के बजाय मनमुताफिक वादे कर रहे हैं।
-मुकुल पवैया
पार्टी कोई भी हो विकास कार्य कराते हैं, लेकिन शहर गुंडा व अपराध मुक्त जो प्रत्याशी करेगा मैं उसी को वोट दूंगी।
-माया प्रजापति
युवा रोजगार के लिए परेशान न हों। हुनरमंद युवाओं को भटकना न पड़े, इसलिए जो प्रत्याशी आने वाली पीढ़ी के भविष्य के बारे में सोचेगा, मैं उसी को वोट दूंगा।
-अरविंद जैन
मूलभूत सुविधाओं के बारे में जो प्रत्याशी ईमानदारी से सोचेगा और उस दिशा में काम करने का वादा करेगा उसे ही चुनेंगे।
-सोनल जैन

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned