अवैध रुप से चल रहा था पानी पाउच बनाने का धंधा, किया सील

एसडीएम के आदेश पर हुई कार्रवाई

By: sachendra tiwari

Published: 04 Apr 2019, 10:30 AM IST

बीना. शहर में बगैर बेच नंबर, बगैर लायसेंस के पानी पाउच बनाने का काम जोरों पर चल रहा था, इसकी शिकायत एसडीएम केएल मीणा से भी की गई थी। शिकायत के बाद उन्होंने खाद्य विभाग के अधिकारियों को कार्रवाईके लिए आदेश दिए थे, जिसपर बुधवार को राजस्व और खाद्य विभाग की टीम ने संयुक्त रुप से एक प्लांट पर कार्रवाईकी।
कार्रवाईके लिए टीम गुप्ता गार्डन गुलौआ में संचालित तृप्ति प्यूरिफाइ पर पहुंची। जहां पानी पाउचों की पैकिंग होते हुए मिली। जबकि लायसेंस सिर्फ चिल्ड वॉटर का ही था। साथ ही पानी पाउचों पर न तो बीआइएस नंबर था, न पैकिंग की तारीख और न ही बेच नंबर डला हुआ था। खाद्य निरीक्षक राजेश राय ने बताया कि संचालक को सिर्फचिल्ड वॉटर का लायसेंस विभाग से दिया गया हैऔर वह पाउचों की पैकिंग कर रहे थे जो गलत है। कार्रवाईकरते हुए उनके यहां से ६ हजार १९५ रुपए कीमत के १७७ बोरी पाउच जब्त किए गए हैं। बोरियों को सील कर उसी परिसर में रखा गया है। साथ ही आगामी आदेश तक रजिस्ट्रेशन भी रद्द कर दिया गया है और यदि वह चिल्ड वॉटर का भी काम करेंगे तो कार्रवाई होगी।प्लांट का संचालन अतुल गुप्ता द्वारा किया जा रहा था। टीम में खाद्य निरीक्षक सहित पंकज श्रीवास्तव, रुपराम सनोटिया, राजस्व निरीक्षक प्रेमप्रकाश गोस्वामी, पटवारी जगदीश श्रीवास्तव राजेश शर्मा शामिल थे। टीम के साथ पुलिसकर्मी भी मौजूद थे।
सैंपल की होगी जांच
प्लांट के पानी का सैंपल भी अधिकारियों ने लिया है और यह सैंपल जांच के लिए राज्य खाद्य प्रयोगशाला भोपाल भेजा जाएगा। जिसमें यह स्पष्ट होगा कि पानी की गुणवत्ता ठीक थी या नहीं।
दूसरे प्लांट हो गए थे बंद
शहर में दूसरी जगहों पर भी पानी पाउच पैक किए जा रहे हैं और खाद्य विभाग को इन लोगों पर भी कार्रवाईकरनी थी, लेकिन कार्रवाईकी जानकारी मिलते ही उन लोगों ने प्लांट बंद कर दिए थे।

sachendra tiwari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned