थोक व्यापारी व बैंककर्मी नहीं ले रहे सिक्के, कानून को दिखा रहे ठेंगा

थोक व्यापारी व बैंककर्मी नहीं ले रहे सिक्के, कानून को दिखा रहे ठेंगा

Manish Kumar Dubey | Publish: Sep, 04 2018 04:57:32 PM (IST) Sagar, Madhya Pradesh, India

सामान खरीदना भी बना मुसीबत, लोग परेशान

देवरीकलां.भारतीय रिजर्र्व बैंक के निर्देशों के बावजूद बड़े व्यापारी एवं बैंक सिक्का नहीं ले रहे है। जिससे छोट तथा फुटकर दूकानदारों के सामने बड़ी संख्या हो गई है। छोटे दूकानदारों का कहना है कि हम लोग टॉफी, बिस्कुट, नमकीन बेचकर किसी तरह अपने घर गृहस्थी को चलाते हैं। ज्यादातर छोटेे बच्चे एक-दो व पांच रुपये का सिक्का लेकर आते हैं। उसी सिक्कों को जब हम थोक व्यापारी व बैंकों में जमा करते हैं तो वह लेने से इनकार कर दे रहे हैं। जबकि आरबीआई ने बैंकों को चेतावनी दी है कि सभी प्रकार के सिक्कों स्वीकार करें, नहीं तो कार्रवाई की जाएगी। कुछ माह पहले 10 रुपए के असली नकली सिक्कोंं के बीच रिजर्व बैंक ने कहा है कि अब तक सरकारी टकसालों से 10 रुपए के 14 तरह के सिक्कों ढालकर जारी किए हैं। आरबीआई ने बैंकों को निर्देश दिए हैं कि वह अपनी सभी बैंकों को सिक्के लेने के आदेश जारी करें। जिससे सभी शाखाओं सिक्के लिए जाएं और लोगों को परेशानियों का सामना न करना पड़ा। व्यापारी और जनता 10 रुपए के सिक्कोंं को लेने से बचने का प्रयास करते हैं। जिससे आम लोगों को परेशानी हो रही है। वही इस संबंध में जवाहर वार्ड के पार्षद आशीष गुरु ने भी दुकानदारों द्वारा सिक्के नहीं लिए जाने की शिकायत थाने में दर्ज करा चुके हैं।
दुकानदार सिक्कों देखकर ग्राहकों को दैनिक उपयोग की वस्तुएं देने से इनकार कर रहे हैं।
इस संबंध में भारतीय स्टेट बैंक देवरी के मैनेजर मनोज मिश्रा ने बताया कि आरबीआई ने कोई भी सिक्के बंद नहीं किए है, अगर दुकानदार सिक्के नहीं ले रही तो यह गलत है, बैंक में सिक्कों जमा करने के संबंध में उन्होंने कोई स्पष्ट बात नहीं की है और बाद में बात करने का कहकर फोन डिस्कनेक्ट कर दिया। स्थानीय दुकानदार नीरज चौरसिया ने बताया कि पान की दुकान संचालित करते हैं। पान मसाले एवं अन्य सामग्री के बदले व्यापारियों को सिक्कों देते हैं तो वह लेने से मना कर रहे हैं।
&सिक्कों के प्रचलन या सिक्कों न लेने के संबंध में मेरे पास कोई लिखित शिकायत नहीं है। यदि बैंक सिक्के लेने से इनकार कर रहा है तो लोग हमें लिखित में शिकायत दें। तो संबंधित के विरूद्ध कार्रवाई की जाएगी।
राकेश मोहन त्रिपाठी, एसडीएम

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned