पति का साथ मिला तो शादी के बाद की पढ़ाई, बनाई खुद की पहचान

पति का साथ मिला तो शादी के बाद की पढ़ाई, बनाई खुद की पहचान

Manish Kumar Dubey | Publish: Sep, 16 2018 05:12:11 PM (IST) Sagar, Madhya Pradesh, India

वाइफ एप्रिसिएशन-डे आज

सागर. शादी बहुत ही खास और प्यारा रिश्ता है। पति-पत्नी का एक-दुसरे के लिए प्यार और विश्वास होने से यह रिश्ता और मजबूत हो जाता है। यदि पति का साथ मिले तो महिलाएं ससुराल में भी कामयाबी हासिल कर सकती हैं। रविवार को वाइफ एप्रिसिएशन-डे है। इस मौके पर पत्रिका ने ऐसी महिलाओं से बात की जिन्होंने पति के साथ से शहर में मुकाम बनाया है।
मैं बचपन में बहुत शरारती थी। पिताजी बुद्धिप्रकाश सरावगी इन्टर कॉलेज के संस्थापक प्रिंसिपल थे। वे अपने स्कूल के बच्चों को पढ़ाने में व्यस्त रहते थे और मां घर के कामों में। तीन बड़े भाई पढऩे में होशियार थे। मैं आठवीं कक्षा में फेल हुई, उसके बाद बड़े भाई ने प्रेरित किया और मैंने १२वीं कक्षा तक पढ़ाई की। १984 में विवाह हुआ। पति का साथ मिलने पर कॉलेज की पढ़ाई की। आज मैं जहां हूं अपने पति डॉ. हरिमोहन गुप्ता सीनियर साइंसटिस्ट एफएसएल की वजह से हूं।
1984 में शादी के बाद जब सागर आई तो डॉ. हरिसिंह गौर विवि देखने का अवसर मिला। यहां डॉ. भगीरथ मिश्र के निर्देशन में पीएचडी की। पति के साथ से सहायक प्राध्यापक के रूप में नियुक्ति हुई। गढ़ाकोटा, देवरी जैसे महाविद्यालयों में काम करने के बाद 1993 में पीएससी में 20वां स्थान प्राप्त किया। अब मेरे निर्देशन में 12 शोधार्थियों को पीएचडी की उपाधि प्राप्त हुई। मेरे 8 शोधार्थी विभिन्न कॉलेजों में पढ़ा रहे हैं। मुझे मेरे पति का मार्गदर्शन प्रोत्साहन आज भी प्राप्त है।
डॉ. सरोज गुप्ता, अध्यक्ष, हिंदी विभाग आट्र्स एंड कॉमर्स कॉलेज
वर्ष १९८८ में १२वीं के बाद मेरी पढ़ाई रूक गई। १९९० में यहां विवाह हो गया। पढऩे की इच्छा और संगीत में रूचि को पति नंदकिशोर केशरवानी ने देखा तो २०१२ में शास्त्रीय संगीत गायन में दाखिला कराया। दो साल शास्त्रीय संगीत सीखा। २०१५ में बीए प्राइवेट का फॉर्म भर दिया। संगीत में तैयारी करती रही। वर्ष २०१७ में मेरे बेटे की शादी हो गई, घर में बहू आ गई, लेकिन मेरी पढ़ाई जारी है। अभी मैं एमएम शास्त्रीय संगीत से रेगुलर कर रही हूं, मेरा सपना था कि बड़े मंचों पर गायन करूं, जो अब पूरा हो गया है।
कंचन केशरवानी, संगीतकार

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned