आइटीएमएस के दायरे में 12 चौराहे शामिल, बीओडी ने दी स्वीकृति

आइटीएमएस के दायरे में 12 चौराहे शामिल, बीओडी ने दी स्वीकृति

Govind Prasad Agnihotri | Publish: Sep, 05 2018 02:28:29 PM (IST) Sagar, Madhya Pradesh, India

स्मार्ट सिटी: आइटीएमएस की स्थापना को मिली हरी झंडी

सागर. स्मार्ट सिटी मिशन के तहत शहर के अब १२ चौराहों को विकास कार्य के लिए चिन्हित कर लिया गया है। आइटीएमएस (इंटेलीजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम) की स्थापना के लिए मंगलवार को बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने स्वीकृति प्रदान की। पूर्व में आईटीएमएस के तहत शहर के ४ चौराहों को चिन्हित किया गया था लेकिन अब इसका दायरा सुरक्षा के हिसाब से बड़ा दिया गया है। सागर स्मार्ट सिटी लिमिटेड के चेयरमैन व कलेक्टर आलोक कुमार सिंह, एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर व निगमायुक्त अनुराग वर्मा, सीईओ राहुल सिंह राजपूत, दिल्ली से आए डायरेक्टर नरेंद्र वशिष्ट, ग्राम एवं नगर निवेश संयुक्त संचालक सुनील जॉन मिंज, मुख्य वित्तीय अधिकारी आकांक्षा जुनेजा, कंपनी सेक्रेटरी रजत गुप्ता की उपस्थिति में एसएससीएल की चौथी बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की बैठक आयोजित हुई। सीएस गुप्ता ने बताया कि बैठक में आईटीएमएस की स्थापना, तीन पार्कों के सौंदर्यीकरण, नियुक्तियों, सिगनेज बोर्ड समेत अन्य विकास कार्यों को स्वीकृति दी गई है।

आइटीएमएस का दिया प्रजेंटेशन

प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कंसल्टेंट ने मंगलवार को बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की बैठक के बाद आईटीएमएस को लेकर प्रजेंटेशन दिया। इस मौके पर कलेक्टर सिंह के साथ एसपी सत्येंद्र कुमार शुक्ल, उप पुलिस अधीक्षक यातायात संजय खरे समेत अन्य अधिकारी उपस्थिति रहे जिन्होंने प्रजेंटेशन देखने के बाद अपने सुझाव भी दिए। सीएस गुप्ता ने बताया कि आईटीएमएस की अब टेंडर प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

ये है आइटीएमएस की खासियत

बैठक में मोतीनगर चौराहा, राधा तिराहा, सिविल लाइन चौराहा, भगवानगंज तिराहा, आरओबी का यू टर्न समेत १२ चौराहा-तिराहा शामिल हैं। आइटीएमएस की खासियत यह है कि किसी भी चौराहा-तिराहा पर यदि कोई वाहन चालक नियम तोडऩे की कोशिश करता है तो उसकी जानकारी आईसीसीसी को तत्काल ही मिल जाएगी। इन चौराहों का कायाकल्प करीब २५ करोड़ रुपए की राशि से किया जाएगा।

नहीं पूछना पड़ेगा पता

स्मार्ट सिटी योजना के तहत आने वाले कुछ महीनों में शहर के हर चौराहे-तिराहे व मार्ग पर सूचना बोर्ड लगेंगे। यह सिगनेज बोर्ड महानगरों की तर्ज पर लगाए जाएंगे। सीएस गुप्ता ने बताया कि जब यह बोर्ड लग जाएंगे तो दूसरे जिलों व ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाली जनता को परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। इस कार्य में लगभग १३ करोड़ रुपए की लागत आने का अनुमान लगाया गया है।

 

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned