कारगिल में शहीद जवानों की याद में नम हुईं आंखें, पढ़ि‍ए उनकी बहादुरी की कहानी

  • सरसावा एयरफोर्स स्टेशन पर कारगिल युद्ध के शहीदों की याद में मनाया गया शहीद दिवस
  • वर्ष 1999 में सरसावा के भी चार जवान शहीद हो गए थे कारगिल युद्ध में
  • एयर चीफ मार्शल बीरेंद्र सिंह धनोआ ने शहीदों को दी श्रद्धांजलि

By: sharad asthana

Published: 28 May 2019, 04:27 PM IST

सहारनपुर। सरसावा एयरफोर्स स्टेशन पर मंगलवार को शहीद दिवस मनाया गया। कारगिल युद्ध के शहीदों की याद में यह दिवस मनाया जाता है। इस अवसर पर एयर चीफ मार्शल बीरेंद्र सिंह धनोआ ने वार मेमोरियल पर शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी। इस दौरान उनकी पत्‍नी भी मौजूद रहीं।

यह भी पढ़ें: कल्‍याण सिंह के आशीर्वाद से भाजपा उम्‍मीदवार को हराकर संसद पहुंचे थे पूर्व सपा सांसद कमलेश वाल्‍मीकी

वायुसेना अध्‍यक्ष की पत्‍नी भी रहीं मौजूद

वर्ष 1999 में कारगिल युद्ध में सरसावा के भी चार जवान शहीद हो गए थे। इनको श्रद्धांजलि देने के लिए एयर चीफ मार्शल बीरेंद्र सिंह धनोआ, एयर मार्शल रघुनाथ नांबियार और ले. जनरल योगेश कुमार जोशी सरसावा एयरफोर्स स्‍टेशन पहुंचे थे। इस दौरान एयर चीफ मार्शल बीरेंद्र सिंह धनोआ की पत्‍नी कमलप्रीत धनोआ और रघुनाथ नांबियार की पत्‍नी लक्ष्‍मी नांबियार भी मौजूद रहीं। एयर कमोडोर संदीप चौधरी और स्‍थानीय एयरफोर्स वाइव्‍स वेलफेयर एसोसिएशन की अध्‍यक्ष शालिनी चौधरी ने उनका स्‍वागत किया। आपको बता दें क‍ि वायुसेना अध्यक्ष धनोआ सोमवार को सरसावा पहुंच गए थे। वह विशेष विमान से यहां पहुंचे थे।

खेलो पत्रिका Flash Bag NaMo9 Contest और जीतें आकर्षक इनाम, कॉन्टेस्ट मे शामिल होने के लिए http://flashbag.patrika.com पर विजिट करें।

हेलीकॉप्‍टर उड़ाकर शहीद स्तंभ पर की पुष्प वर्षा

कार्यक्रम के दौरान वायुसेना अध्‍यक्ष ने खुद हेलीकॉप्‍टर उड़ाकर शहीद स्तंभ पर पुष्प वर्षा की। इस दौरान आईजी रेंज शरद सचान, एसएसपी दिनेश कुमार पी. के अलावा ने भी शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित किए। मंगलवार को हुए कार्यक्रम के दौरान स्कवाड्रन लीडर राजीव पुंडीर की पत्‍नी शर्मिला पुंडीर भी मौजूद रहीं।

यह भी पढ़ें: भाजपा के करोड़पति उम्मीदवार को हारने वाले इस मुस्लिम नेता को मायावती ने दी ये बड़ी जिम्मेदारी

दुश्‍मनों को ठिकाने लगाने के लिए बलिदान कर दिया था जीवन

1999 में ऑपरेशन विजय के दौरान सरसावा एयरफोर्स के जवानों ने भी अपना योगदान दिया था। कागिल युद्ध में स्कवाड्रन लीडर राजीव पुंडीर, फ्लाइट लेफ्टिनेंट एस. मुहिलन, सार्जेंंट पीवीएनआर प्रसाद और सार्जेंंट साहू ने अपनी बहादुरी दिखाई थी। कारगिल की टाइगर हिल्स पर छिपे दुश्‍मनों को ठिकाने लगाने के लिए उन्‍होंने अपने जीवन का बलिदान दे दिया था। वायु सेना उनकी याद में 28 मई को शहीद दिवस के रूप में मनाती है।

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर

Show More
sharad asthana
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned