खुलासाः देश में सक्रिय फर्जी संगठनाें के निशाने पर हैं युवा, एेसे किया जा रहा इस्तेमाल

खुलासाः देश में सक्रिय फर्जी संगठनाें के निशाने पर हैं युवा, एेसे किया जा रहा इस्तेमाल

shivmani tyagi | Publish: Jul, 13 2018 09:01:00 PM (IST) Saharanpur, Uttar Pradesh, India

सहारनपुर में तीन युवकाें काे 100 रुपये में बना दिया इंस्पेक्टर, तीनाें पहुंच गए बीएसए कार्यालय का निरीक्षण करने

सहारनपुर।

एंटी करप्शन ब्यूराें से मिलते-जुलते नाम की एजेंसियां आैर संगठन कथित रूप से देश के युवा बेराेजगाराें काे निशाना बना रहे हैं। ताजा मामला यूपी के सहारनपुर में सामने आया है। यहां तीन युवकाें काे कथित ताैर पर संगठन की सदस्यता देने के बाद स्पेशल इनवेस्टीगेशन अॉफिसर का आईकार्ड दे दिया। तीनाें युवा खुद काे इस कंपनी का अधिकारी समझने लगे आैर जांच अधिकारी बनकर सहारनपुर बीएसए के अॉफिस में जा पहुंचे। यहां जाे हुआ वह बेहद चाैंका देने वाला था। यहां जाे हुआ उसे जानने से पहले यह जानना जरूरी है कि, बीएसए अॉफिस से इन तीनाें काे हिरासत में लेकर सीधे पुलिस थाने ले जाया गया। इनसे पूछताछ की गई ताे पता चला कि तीनाें युवकाें काे एंटी क्राईम ब्रांच अॉफ इंवेस्टीगेशन संस्था की आेर से कथित रूप से नियुक्ति दी गई थी। पुलिस ने इनसे कई घंटे तक पूछताछ की लेकिन कथित ताैर बनाई गई इस कंपनी का काेई पता नहीं चल सका। फिलहाल पुलिस ने इन तीनाें नाबालिग बच्चाें काे इनके परिवार वालाें के हवाले कर दिया है लेकिन इस घटना ने यह साफ कर दिया है कि देश में एेसी एजेंसियां सक्रिय हैं जाे बेराेजगार युवाआें काे अपना निशाना बना रही हैं। बेराेजगाराें युवाआें काे भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाने के नाम पर गुमराह करकेे गलत तरीके से इस्तेमाल किया जाता है। पकड़े गए इन तीन युवकाें में से एक के पास से आईकार्ड भी मिला है जिसमें वर्दी की फाेटाे हैं हालांकि पूछताछ में इस युवक ने यही बताया कि फाेटाे एनसीसी की है आैर एनसीसी की ड्रैस में ही है।

पूछताछ में इन्हाेंने बताया कि 100 रुपये में आईकार्ड बनाया गया है। आईकार्ड बनाने वाले ने उन्हे कहा था कि वह अब इंवेस्टीगेशन अॉफिसर बन गए हैं आैर कहीं भी किसी भी दफ्तर में जाकर चेकिंग कर सकते हैं। हम आपकाे यहां यह भी बतादें कि इससे पहले भी इस तरह के कई मामले सामने आ चुके हैं जिनमें पुलिस ने फर्जी अफसराें के खिलाफ कार्रवाई भी की। फिलहाल इस मामले में काेई अपराध नहीं हाेने आैर तीनाें युवकाें के छात्र हाेने की वजह से पुलिस ने इन्हे चेतावनी देकर छाेड़ दिया है।

 

किसी भी संस्था में शामिल हाेने से पहले रहे सावधान

एसएसपी सहारनपुर उपेंद्र अग्रवाल का कहना है कि किसी भी संस्था में शामिल हाेने से पहले उस संस्था के बारे में ठीक तरह से पड़ताल जरूर कर लें। यदि आपकाे एेसा लगे कि संस्था का रजिस्ट्रेशन नहीं है ताे इसकी भी जांच जरूर करें। एेसी संस्थाआें से जुड़ने से बचे जाे आपकाे किसी तरह की पद नियुक्ति के एवज में पैसाें की डिमांड करती हाें या फिर किसी भी तरह का अधिकारिक पद देने का दावा करती हाें। जाे एजेंसियां संस्थाएं आैर संगठन आपकाें एेसे पद देने का दावा करती हाें जाे किसी सरकारी या गैर सरकारी अधिकारी के समकक्ष बताया जा रहा हाे ताे समझ लीजिए वह धाेखा है। एेसी संस्थाएं फर्जी हाे सकती हैं आैर एेसी संस्थाआें के साथ काम करने वाले भी कानून के शिकंजे के में फंस सकते हैं।

Ad Block is Banned