लॉकडाउन में रमजान आने पर दारुल उलूम देवबंद से आया मुसलमानों के लिए बड़ा फतवा

  • घरों में ही रहकर माह-ए-रमजान में अदा करें तराबीह की नमाज
  • लॉकडाउन में प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के नियमों का करें पालन

By: Iftekhar

Published: 19 Apr 2020, 09:06 PM IST

 

देवबंद. कोरोना वायरस से बचाव के लिए सरकार की ओर से देशभर में किए गए लॉकडाउन के बीच रमजान का पवित्र महीना आने से मुसलमानों में बहुत ही उहापोह की स्थिति है। खासतौर से लोग रमजान में होने वाली तरावीह की नमाज को लेकर चिंतित हैं। ऐसे में देश के सबसे इस्लामिक शिक्षा के केंद्रों में से एक दारुल उलूम ने फतवा जारी कर लोगों से रमजान के महीने में भी घरों में ही इबादत करने और तरावीह की नमाज अदा करने की अपील की है। इस फतवे में स्वास्थ्य विभाग की सभी गाइडलाइंस का पालन करने की हिदायत भी दी गई है।

यह भी पढ़ें: कोरोना से मरने वालों का अपमान किए जाने की खबरों पर भड़के मुस्लिम धर्मगुरु, सरकार से की यह बड़ी मांग

दारुल उलूम देवबंद से रविवार को जारी फतवे में कहा गया कि इसी माह के अंतिम सप्ताह में आरंभ होने वाले रमजान के महीने की शुरुआत होने जा रही है। लिहाजा, इस मुबारक महीने में इबादत के साथ ही कोविड-19 से बचाव के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी निर्देशों को अपनाने की हिदायत दी गई है। साथ ही माह-ए-रमजान में पढ़ी जाने वाली तरावीह की विशेष नमाज भी अन्य नमाजों की तरह स्थानीय प्रशासन के निर्देशों के मुताबिक ही मस्जिदों और घरों में अदा करने का आह्वान किया है। मुफ्ती-ए-कराम ने अपने फतवे में कहा है कि घरों में जमात की व्यवस्था न होने पर अकेले-अकेले भी तरावीह की नमाज अदा की जा सकती है।

यह भी पढ़ें: एक निकाह ऐसा भी: लॉकडाउन के चलते सिपाही ने वीडियो कॉल पर कहा- कबूल है...कबूल है...कबूल है…

साथ ही माह-ए-रमजान में घरों में रहकर कुरआन-ए-करीम की तिलावत और तौबा व अस्तग़फार करते हुए देश व दुनिया में अमन चौन और खुशहाली की दुआ करने की हिदायत जारी की गई है। फतवे में रमजान के चांद रोजा व तरावीह के मसले पर विस्तार से बताते हुए कहा गया है कि ईद-उल-फितर की नमाज के संबंध में दारुल उलूम परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए माह-ए-रमजान के अंतिम सप्ताह में निर्णय लेगा, जिसकी सूचना सही समय पर दे दी जाएगी।

Iftekhar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned