12000 करोड रुपए की लागत से बनेगा दिल्ली-यूपी और यूके को जोड़ने वाला ग्रीन फील्ड एक्सप्रेसवे

दिल्ली से बागपत, बागपत से सहारनपुर और सहारनपुर से होते हुए देहरादून तक जाएगा ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे

By: shivmani tyagi

Published: 29 Nov 2020, 06:02 PM IST

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क

सहारनपुर ( sharanpur ) देश की राजधानी दिल्ली से उत्तर प्रदेश होते हुए उत्तराखंड की राजधानी देहरादून को जोड़ने वाला ( delhi dehradun expressway ) इकोनॉमिक कॉरिडोर जिसे ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे ( Green Field Expressway ) नाम दिया गया है वह करीब 12000 करोड़ रुपए की लागत से बनेगा। यह एक्सप्रेस-वे कुल तीन चरणों में पूरा होगा। दिल्ली से बागपत ( Bagpat ) तक यह एलिवेटेड रोड होगा और बागपत से सहारनपुर और फिर सहारनपुर से देहरादून ( dehradoon ) तक इसे ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस-वे ( Express way ) के रूप में बनाया जाएगा।

यह भी पढ़ें: खाई में पड़ी गाड़ी में दो नर कंकाल देख उड़ गए लोगों के होश

सहारनपुर (sharanpur ) से देहरादून ( Dehradun ) के बीच शिवालिक की पहाड़ियों में भी इस एक्सप्रेस-वे का करीब 16 किलोमीटर का हिस्सा एलिवेटेड रोड ( Elevated road ) के रूप में बनकर तैयार हाेगा। इस ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस-वे के बनने के बाद दिल्ली से लेकर उत्तर प्रदेश, हरियाणा-पंजाब और उत्तराखंड की सड़कों पर ट्रैफिक कम होगा और देश की राजधानी दिल्ली से उत्तराखंड की राजधानी देहरादून की दूरी कम हो जाएगी।

यह भी पढ़ें: कांग्रेस के दो वरिष्ठ नेताओं की भीषण सड़क हादसे में मौत, कार्यकर्ताओं में शोक की लहर

एनएचएआई के अनुसार एक्सप्रेस-वे की लंबाई करीब 170 किलोमीटर होगी। पहले चरण में यह एक्सप्रेसवे दिल्ली के अक्षरधाम मंदिर से ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे बागपत तक करीब 32 किलोमीटर तक बनेगा। यह पूरा रोड एलिवेटेड होगा। इस पहले चरण में करीब साढ़े तीन हजार करोड़ रुपए का खर्च आने की उम्मीद है। दूसरा चरण बागपत के इंस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे से सहारनपुर तक करीब 118 किलोमीटर लंबा ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे है। यह छह लेन का होगा और इसके निर्माण पर करीब पांच हजार करोड रुपए खर्च होंगे।

यह भी पढ़ें: रविवार शाम पांच बजे थम गया एमएलसी चुनाव का प्रचार, अब मतदान की तैयारी

तीसरा चरण सहारनपुर से शुरू होगा और सहारनपुर के गणेशपुर से देहरादून तक करीब 21 किलोमीटर लंबा फोरलेन ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे तैयार होगा। शिवालिक वनों में इस एक्सप्रेस-वे का करीब 16 किलोमीटर का हिस्सा पूरी तरह से एलिवेटेड रोड के रूप में तैयार होगा जिस पर करीब 2100 करोड रुपए खर्च होंगे।


रो नदी के ऊपर से जाएगा एलिवेटेड रोड
जब यह ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे बनकर तैयार हो जाएगा तो इस पर सफर करने का आनंद अलग ही होगा। दरअसल शिवालिक की पहाड़ियों के बीच यह एक्सप्रेसवे मोहंड में 'रो' नदी के ऊपर से गुजरेगा। एनएचएआई के प्रोजेक्ट डायरेक्टर वैभव मित्तल के अनुसार यह अपनी तरह का एक मात्र अकेला मॉडल होगा। यह विकास और वन्य जीव संरक्षण का एक नमूना भी होगा। उन्होंने यह भी बताया गणेशपुर से करीब डेढ़ किलाेमीटर आगे चलकर यह हाइवे वर्तमान हाईवे से अलग हो जाएगा और एलिवेटेड रोड में बदल जाएगा। इस रोड से चलते वक्त एक भव्य नजारा देखा जा सकेगा।

Show More
shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned