तीसरे दिन भी जब नहीं मिला कैश तो गांव वालों ने किया ये काम

तीसरे दिन भी जब नहीं मिला कैश तो गांव वालों ने किया ये काम
Rs 2000

sandeep tomar | Publish: Dec, 20 2016 02:01:00 PM (IST) Noida, Uttar Pradesh, India

गांव वालों को समझाने पुलिस पहुंची तो बात और बढ़ गई

सहारनपुर। घंटाें लाईन में लगे रहने के बाद भी जब लाेगाें काे पीएनबी की नानाैता शाखा से पैसा नहीं मिला ताे गुस्साए लाेगाें ने देवबंद-नानाैता मार्ग पर जाम लगा दिया। गुस्साए लाेग सड़क पर बैठ गए आैर आराेप लगाया कि बैंक मैनेज अपने चहेतों काे ताे पैसा दे रहा है लेकिन आम लाेगाें काे मना कर रहा है। करीब एक घंटे तक ग्रामीम सड़क पर बैठे रहे।

नोटबंदी के 41 वें दिन भी हालात सामान्य नहीं हाे सके। कैश ना मिलने से परेशान महिलाओं व पुरुषों ने जमकर हंगामा व प्रदर्शन कर दिया आैर नानौता-देवबंद मार्ग जाम लगा दिया।  ग्रामीणों ने बैंक प्रबंधक पर अपने चहेतों को नए रुपए दिए जाने का आरोप लगाया। मौके पर पहुंची पुलिस व बैंक प्रबंधक ने मंगलवार तक कैश सभी खाताधारकाें काे दिए जाने का आश्वासन दिया ताे गुस्साए लाेग शांत हाे सके। इसके बाद गुस्साए ग्रामीणाें ने जाम खाेला।

बैंक वालों के खिलाफ नारेबाजी

नगर के किसान सहकारी चीनी मिल परिसर में स्थित पंजाब नेशनल बैंक की शाखा ठसका में सुबह से ही लोगों की भीड़ लगी हुई थी। करीब दस बजे जैसे ही बैंक खुला ताे शाखा प्रबंधक बसंत कुमार ने साफ कह दिया कि कैश नहीं है। इस पर लोगों का गुस्सा फूट पड़ा आैर उन्हाेंने नारेबाजी शुरु कर दी। महिलाओं व पुरूषों ने बैंक के गेट के सामने जमकर हंगामा काटा। इसके बाद गुस्साई भीड़ ने नानौता-गंगोह मार्ग पर भी जाम लगा दिया। जाम लगा रहे लोगों का कहना था कि आए दिन बैंककर्मी खाताधारकों को बैंक में कैश नहीं हाेने की बात कहकर लाैटा देते हैं।

पुलिस के आने पर बढ़ा हंगामा


ग्रामीणों का आरोप है कि बैंककर्मी अपने चहेतों को जमकर कैश दे रहे हैं, जबकि उन्हें घंटों लाइन में लगकर भी पैसा नहीं मिल पा रहा है। जाम की सूचना पर पंहुची पुलिस ने ग्रामीणों को समझाकर जाम खुलवाने का प्रयास किया तो लोगों ने और भी ज्यादा हंगामा शुरु कर दिया। इसके बाद मौके पर जाम में पंहुचे बैंक प्रबंधक बसंत कुमार ने ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि बैंक में मंगलवार को कैश आ जाएगा। बैंक मैनेजर के इस आश्वासन के करीब 30 मिनट बाद ग्रामीणों ने जाम खोला।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned