मतदान से पहले मुस्लिमों के इस मुद्दे को उठाने पर धर्मगुरु नाराज, भाजपा के खिलाफ कह दी ये बड़ी बात

भाजपा के घोषणा पत्र में निकाह आैर हलाला खत्म करने के वादे पर उलेमाआें ने जतार्इ नाराजगी

 

By: lokesh verma

Published: 10 Apr 2019, 02:39 PM IST

सहारनपुर. भाजपा के घोषणापत्र में निकाह आैर हलाला पर रोक लगाने पर कानून बनाने के वादे को लेकर मुस्लिम धर्मगुरुआें ने नाराजगी जतार्इ है। मदरसा जामिया शेखुल हिन्द के मोहतमिम मौलाना मुफ्ती असद कासमी का कहना है कि भाजपा चुनाव में वह हर हथकंडा अपना रही है, जिससे उसे लोकसभा चुनाव में जीत मिल सके। उनका कहना है कि भाजपा एेसे मुद्दे उठा रही है, ताकि मुस्लिम महिलाआें के वोट बटोर सके, लेकिन वह इसमें कामयाब नहीं होंगे

यह भी पढ़ें- जया प्रदा का आजम पर पलटवार, कहा- भारत मां को डायन बताने वाले को इस चुनाव में मिलेगा जवाब

बता दें कि नानौता में हाल ही में भाजपा की रैली के दौरान पीएम मोदी ने मुस्लिम महिलाओं को लुभाने के लिए तीन तलाक का जिक्र किया था। उन्होंने मुस्लिम महिलाआें के वोट भाजपा के पक्ष में करने के लिए तीन तलाक के बाद निकाह और हलाला के मुद्दे का इस्तेमाल किया था। इन मुद्दों को भाजपा के घोषणापत्र में शामिल करने पर मुस्लिम धर्मगुरु आैर मुस्लिम महिलाआें ने आपत्ति जतार्इ है।

यह भी पढ़ें- सीएम योगी बोले- जिस अखिलेश यादव ने मायावती के साथ किया एेसा काम, आज उसी के साथ खड़ी हैं बसपा प्रमुख

इस मामले में मजलिस इत्तेहाद-ए-मिल्लत के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष मुफ्ती अहमद गौड़ ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा है कि तीन तलाक के मुद्दे पर देशभर में विरोध के बावजूद भारतीय जनता पार्टी जान-बूझकर मुस्लिम पर्सनल लॉ में हस्तक्षेप कर रही है। भाजपा चुनाव में मुस्लिम महिलाओं के वोट लेने के लिए जबरन शरीयत में दखल दे रही है। वहीं मौलाना मुफ्ती असद कासमी ने इसे वोट बटोरने का हथकंडा करार दिया है। उन्होंने कहा कि तीन तलाक का मुद्दा भी जबरन उठाया गया था। वहीं अब घोषणापत्र में निकाह और हलाला को समाप्त करने का वादा करके नए विवाद को जन्म दे दिया गया है। इसे मुसलमान कभी स्वीकार नहीं करेंगे।

यह भी पढ़ें- वोटिंग से पहले सपा के लिए बुरी खबर, आजम खान के खिलाफ इस मामले में दर्ज हुआ मुकदमा

इसी तरह जामिया इल्हामिया मदरसातुल बनात की प्रबंधक खुर्शिदा खातून कहती हैं कि भाजपा को अच्छी तरह पता है कि देश की मुस्लिम महिलाएं पर्सनल लॉ बोर्ड के साथ खड़ी हैं। इसके बावजूद भाजपा जान-बूझकर नए-नए विवादों को जन्म देकर लोकसभा चुनाव में लाभ उठाना चाहती है।

यह भी पढ़ें- शमी-हसीन विवादः पहली बार खुलकर सामने आए मोहम्मद शमी, हसीन जहां के लिए कह दी ये बड़ी बात

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

UP Lok sabha election Result 2019 से जुड़ी ताज़ा तरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए Download करें patrika Hindi News App .

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned