टीवी डिवेट में मौलानाओं के शामिल होने के खिलाफ फतवे को देवबन्दी उलेमा ने बताया गलत

Iftekhar Ahmed

Publish: Jan, 26 2018 11:18:20 PM (IST)

Saharanpur, Uttar Pradesh, India

देवबन्द. टीवी पर डिवेट कार्यक्रमों में उलेमा के शामिल होने को शरीयत के खिलाफ बताने वाले बरैली के आला हजरत इदारे से जारी फतवे को देवबंदी उलेमा ने खारिज कर दिया है। इदारा आला हजरत के इस फतवे पर प्रतिक्रिया देते हुए देवबंद के मौलाना अशरफ कासमी ने कहा कि टीवी पर होने वाले डिबेट शो में उलेमा का शामिल होना वक्त की जरूरत है। उन्होंने कहा कि हमारे मुल्क के चार स्तम्भ हैं। इन में मिडिया बुनयादी और अहम स्तम्भ है, जो मुल्क के अवाम को अपनी बात कहने का स्टेज उपलब्ध कराता है। इलैक्ट्रॉनिक मिडिया हो या प्रिंट मिडिया। अगर हम इसका इस्तामाल नहीं करेंगे तो हक कि बात और सही बात या कोई भी ऐसी बात, जो लोगों तक पहुचानी हो इसके लिए इस वक्त मिडिया बुनयादी जरूरत है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned