मुस्लिम धर्मगुरु बोले- मुसलमानों के पक्ष में आएगा पुनर्विचार याचिका पर फैसला, देखें वीडियो

Highlights
- इत्तेहाद उलेमा-ए-हिन्द ने किया जमीयत उलेमा-ए-हिन्द का समर्थन
- मुस्लिम तंजीमों से की एकजुट होने की अपील
- बोले- मुसलमानों के साथ नहीं हुआ इंसाफ

By: lokesh verma

Published: 03 Dec 2019, 03:16 PM IST

देवबंद. अयोध्या फैसले को लेकर जमीयत उलेमा-ए-हिन्द की तरफ से सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका किये जाने को लेकर देवबंद उलेमा ने कहा है कि जिस तरह से मुसलमानों के साथ में इंसाफ होना चाहिए था, वह नहीं मिला है। उन्होंने कहा कि तमाम सबूतों के आधार पर फैसला नहीं आया है। उन्होंने तमाम मुस्लिम तंजीमो से एकजुट होकर जमीयत उलेमा-ए-हिन्द का साथ देने की अपील की है।

यह भी पढ़ें- हैदराबाद की घटना से दुखी छात्र ने पीएम मोदी को खून से लिखा पत्र

इत्तेहाद उलेमा-ए-हिन्द के उपाध्यक्ष मुफ्ती असद कासमी ने कहा कि जमीयत उलेमा-ए-हिन्द ने सुप्रीम कोर्ट के अयोध्या फैसले पर पुनर्विचार याचिका दायर की है। पुनर्विचार याचिका का फैसला मुसलमानों के पक्ष में ही आएगा। उन्होंने कहा कि तमाम सबूत पेश करने के बावजूद भी कोर्ट ने माना कि मन्दिर नहीं तोड़ा गया और मूर्ति वहां पर रखी गई। फिर भी फैसला मुसलमानों के हक में नहीं आया। उसी को मददेनजर रखते हुऐ जमीयत उलेमा-ए-हिन्द ने रिव्यू पिटीशन दायर की है। इसलिए हम तमाम देशवासियों से और खासकर मुस्लिम तंजीमों से अपील करना चाहते है कि जमीयत उलेमा-ए-हिन्द का साथ दें। जमीयत उलेमा-ए-हिन्द के कदम को मजबूत करें। हम जमीयत के इस कदम के साथ हैं और उनका समर्थन करते हैं।

यह भी पढ़ें- VIDEO: गैंगरेप के बाद आवाज खोने और हाथ से अपंग होने वाली पीड़िता के बयान लेने पर अड़ी पुलिस

Ayodhya verdict ayodhya verdict supreme court
Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned