तलाक-तलाक-तलाक: शादी के 35 साल बाद पति ने दिया तलाक ताे पीड़िता ने नए कानून काे बनाया हथियार

खबर की खास बातें

शादी के 35 साल बाद पति ने तलाक देकर इत्तद बैठाया पत्नी काे

पीड़िता का आराेप किसी अन्य महिला से शादी करना चाहता है पति

पत्नी से मांगे थे 2 लाख रुपये रकम नहीं मिलने पर दिया तलाक

By: shivmani tyagi

Published: 05 Sep 2019, 09:43 PM IST

सहारनपुर। शादी के 35 साल बाद पति काे अय्याशी सूझी ताे उसने पत्नी काे बिजली के केबिल से पीटा और जब पति के इस जुल्म से बचने के लिए पत्नी ने चाैखट के बाहर कदम रखा ताे उसे तलाक दे दिया।

यह दर्दभरी कहानी गागलहेड़ी थाना क्षेत्र के गांव उग्राहू की रहने वाली खुर्शीदा की है। खुर्शीदा एक गरीब बाप की बेटी हैं। 35 साल पहले उनकी शादी गागलहेड़ी थाना क्षेत्र के गांव उग्राहू के रहने वाले मुस्तकीम के साथ हुई थी। इन 35 सालाें में खुर्शीदा अपने बच्चे और पति के लिए समर्पित रही लेकिन उसे नहीं पता था कि 35 साल बाद उसकी जिंदगी में Tripal talaq तूफान लेकर आएगा।

15 अप्रैल 2019 काे पति ने खुर्शीदा काे तलाक दे दिया। खुर्शीदा के अनुसार उसकी ननद की बेटी की शादी थी। इस शादी के लिए पति उससे दाे लाख रुपये मांग रहा था। वह 35 साल बाद अपने पिता काे इतनी बड़ी रकम देने के लिए नहीं कह सकती थी। जब पैसा नहीं मिला ताे पति ने तलाक दे दिया। बात सिर्फ इतनी ही नहीं है। खुर्शीदा जब उस उस दिन की कहानी का याद करती है ताे उनकी आँखे भर आती हैं। इसके बाद वह बताती हैं कि पति काे 35 साल बाद किसी दूसरी महिला से लगाव हाे गया था।

दूसरी महिला से शादी रचाने के लिए उन्हाेंने यह कदम उठाया तीन शब्द बाेलकर 35 साल का रिश्ता पल भर में ताेड़ दिया। तलाक मिलने के बाद जब खुर्शीदा काे काेई रास्ता दिखाई नहीं दिया ताे वह इद्दत में बैठ गई। खुर्शीदा काे लगने लगा अब उनका और बच्चों का जीवन अंधकार में ही बीतने वाला है ताे उन्हाेंने एक बार गुलामी की जिंदगी जीने का मन बना लिया लेकिन इसी बीच ट्रिपल तलाक के खिलाफ बना कानून खुर्शीदा के लिए वरदान बन गया।

खुर्शीदा बताती हैं जब यह कानून आया ताे वह पुलिस के पहुंची और पुलिस ने अब उनकी सुनवाई की। पुलिस ने ट्रिपल तलाक कानून के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर खुर्शीदा और बच्चाें काे घर में बैठाया और आराेपी पति काे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। खुर्शीदा काे घर ताे मिल गया लेकिन उसकी लड़ाई अभी तक खत्म नहीं हुई है। खुर्शीदा कहती हैं जिस दिन पति जेल से छूटकर आएंगे उस दिन दाेबारा से जिंदगी परीक्षा लेगी। अब सवाल यह है कि क्या पति जेल से आने के बाद खुर्शीदा काे अपनाएगा।

तीन तलाक पीड़िता खुर्शीदा चाहती हैं कि उनके पति के नाम जाे जमीन है वह कम से कम बच्चाें के नाम हाे जाए ताकि पति जमीन का ना बेच पाए। खुर्शीदा की एक छाेटी बेटी भी है जिसकी कुछ ही साल बाद शादी हाेगी ऐसे में पीड़िता खुर्शीदा काे यह चिंता सता रही है कि उसे तलाक मिलने के बाद उसकी बेटी का क्या हाेगा ?

क्या कहते हैं अफसर

एसटी सिटी विनीत भटनाकर का कहना है कि खुर्शीदा की पूरी मदद पुलिस की ओर से की जा रही है। आराेपी पति काे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। आगे भी पुलिस खुर्शीदा की मदद करेगी। कानून बनने के बाद मामले सामने आ रहे हैं। सभी तलाक पीड़िताओं की संभव मदद पुलिस की ओर से की जा रही है।

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned