दो गरीब बच्चाें ने शकरकंद समझकर खा ली जहरीली घास की जड़, हालत नासाज

बच्चाें की हालत बिगड़ी ताे कारण जानने के लिए मां ने भी खा ली जड़, तीनों अस्पताल में भर्ती

By: Iftekhar

Published: 12 Nov 2017, 08:10 PM IST

सहारनपुर. देश में भले ही विकास के आंकड़े की लड़ाई चल रही हो। सरकार आंकड़ों की बाजीगिरी से देश को विकास के राह पर सरपट दौड़ता हुआ दिखा रही है। वहीं, विपक्ष सरकार के दावों की पोल खोल रही है। लेकिन इन सबसे दूर देश में आज भी ऐसे बच्चे हैं, जो अपने पेट की आग बुझाने के लिए खेतों की मिट्टी खोदकर शकरकंद की तलाश कर रहे हैं। भूख मिटाने की उनकी ये जद्दोजहद भी उनके जीवन पर भारी पड़ रही है।

Mother

 


फाकाें ने तस्वीर बना दी आंखाें में गाेल हाे काेई चीज ताे राेटी लगती है। गरीबी की हकीकत बयां करती मशहूर शायर नवाज देवबंदी की यह रचना उनके ही कस्बे में दाेहराती हुई दिखी है। देवबंद में एक गरीब परिवार के बच्चाें ने शकरकंद समझकर जहरीले घास की जड़ काे खा लिया। इस जहरीले पेड़ की जड़ काे खाने से उनकी तबीयत बिगड़ गई है। इस जड़ काे खाने के बाद जब बच्चे चिल्लाएं ताे मां उनके पास पहुंची। बच्चाें ने बतया कि शंकरकंद जैसी दिखने वाली जड़ काे खाने से उन्हें चक्कर आ रहे हैं। इसके बाद उनकी मां ने भी चेक करने के लिए इस जड़ का सेवन कर लिया। इस जड़ को खाते ही बच्चाें के साथ ही मां की हालत भी बिगड़ गई। फिर परिवार के एक आैर सदस्य ने इस जड़ का सेवन कर लिया। इस तरह एक ही परिवार के चार लाेगाें की हालत बिगड़ गई। चाराें काे उपचार के लिए पास के सरकारी अस्पताल ले जाया गया, जहां से चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार के बाद तीनों को हायर सेंटर रेफर कर दिया है। घटना के एक दिन बीत जाने के बाद भी बच्चों की हालत गंभीर बनी हुई है। हायर सेंटर में अब भी बच्चाें का उपचार चल रहा है। डॉक्टराें ने इनकी हालत में मामूली सुधार हाेने की बीत कही है।

इस घटना काे लेकर कस्बे में तरह-तरह की चर्चाएं हैं। दाेनाें बच्चाें की हालत बिगड़ने की घटना काे लाेग समझ नहीं पा रहे हैं। घर के पास एेसा काैन सा जहरीला पाैधा है, जिसकी जड़ खाने से पहले बच्चाें आैर फिर मां की हालत बिगड़ गई। आशंका जताई जा रही है कि बच्चे भूखे थे आैर उन्हाेंने शककंद समझकर जहरीले घास की जड़ काे खा लिया हाेगा। देवबंद पुलिस अब पूरे मामले की जांच कर रही है।

Iftekhar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned