देवबंद में चल रही थी अवैध हथियारों की फैक्ट्री, पुलिस ने मारा छापा ताे हुआ बड़ा खुलासा

  • फैक्ट्री से काफी संख्या में बने और अधबने तमंचे और कारतूस किये बरामद
  • पांच हजार रुपये में बिक रहा था तमंचा, पुलिस ने एक आराेपी किया गिरफ्तार

By: shivmani tyagi

Updated: 27 Sep 2020, 08:18 PM IST

देवबंद ( Deoband ) पुलिस ने जीटी रोड स्थित साईंधाम के निकट बने खंडरनुमा मकान से अवैध हथियार बनाने की फैक्ट्री ( illegal arms factory ) का खुलासा करते हुए एक आरोपी को गिरफ्तार किया है।

यह भी पढ़ें: ऑवरलोड ट्रॉली में ना लाइट थी ना रेडियम, पीछे से टकराई कार जीजा साले की मौत

फैक्ट्री से काफी संख्या में बने और अधबने तमंचे और कारतूस बरामद किए हैं। देवबंद पुलिस ने उच्चाधिकारियों के निर्देश पर अपराधियों की धरपकड़ को चलाए जा रहे अभियान के तहत मुखबिर की सूचना पर साईंधाम के निकट गांव नूरपुर की ओर जाने वाले रास्तें में बने एक खंडर में छापेमारी अवैध तमंचा बनाने की फैक्ट्री पकड़ी। मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने हाईवे की ओर साईंधाम मंदिर के सामने से गांव नूरपुर की ओर जा रहे रास्तें में बने एक खंडरनुमा मकान में छापेमारी की जहां से मुजफ्फरनगर जनपद के थाना कोतवाली के शाहबउद्दीनपुर रोड निवासी राशिद को हिरासत में लिया और वहां से दो तमंचे .315 बोर एक तमंचा 12 बोर, छह अधबने तमंचे 12 बोर एवं 315 बोर के कारतूस सहित 14 बाडी 14 नाल 23 सिप्रंग और ड्रिल मशीन वेल्डिंग मशीन सहित अन्य तमंचा बनाने के उपकरण सहित अन्य समान बरामद किया। पुलिस क्षेत्राधिकारी रजनीश कुमार उपाध्याय ने बताया कि आरोपी 2012 और 18 में तमंचा बनाने की फैक्ट्री चलाने के आरोप में जनपद मुजफ्फरनगर की थाना कोतवाली एवं मंसूरपुर से जेल जा चुका है। आरोपी राशिद को आर्म्स एक्ट के तहत जेल भेज दिया गया है।

यह भी पढ़ें: मुजफ्फरनगर में भाजपा काे झटका ताे मजबूत हुई सपा, कई ने मिलाया सपा से हाथ

फैक्ट्री से काफी भारी मात्रा में अवैध असला तथा अद्ध बने ओर बने हुए हथियार मिले हैं। पकड़े गए युवक का काफी पुराना अपराधिक इतिहास है। वह पहले भी कई बार अवैध असला बनाने के मामले में जेल जा चुका है अवैध असलाह बनाने का कार्य करता रहा है और वह दो हजार रुपए से लेकर पांच हजार रूपये में असला देने का काम करता रहा है

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned