जानिये, IMA ने सुबह टहलने से क्‍यों कर दिया मना

वातावरण में बढ़ते प्रदूषण की मात्रा काे देखते हुए डॉक्टराें ने सुबह आैर शाम की सैर से बचने की सलाह दी है।

By: lokesh verma

Updated: 10 Nov 2017, 01:18 PM IST

सहारनपुर. दिल्ली एनसीआर के लाेगाें के लिए बढ़ते प्रदूषण काे देखते हुए आईएमए (इंडियन मेडिकल एसाेसिएशन) ने सुबह आैर शाम की सैर से परहेज करने की सलाह दी है। सिर्फ सलाह ही नहीं दी, बल्कि जाे हालात दिल्ली एनसीआर में हैं उन्‍हें सुबह आैर शाम की सैर करने वाले बच्चाें आैर बूढ़ाें के साथ-साथ सांस के मरीजाें के लिए घातक भी बताया है।

दरअसल, इन दिनाें दिल्ली एनसीआर में वायु में प्रदूषण का स्तर मानक से कई गुना तक बढ़ गया है। हालात यह हाे गए हैं कि खुली हवा में सांस लेना भी हानिकारक माना जा रहा है। यही वजह है कि दिल्ली एनसीआर में स्कूलाें की छुट्टी भी कर दी गई है। यानि वातावरण में फैले प्रदूषण से बचने के लिए सावधानी बरती जा रही है आैर दिल्ली में सम-विषम यानि ऑड-ईवन व्यवस्था एक बार फिर से लागू की गई है। एेसे में आईएमए यानि इंडियन मेडिकल एसाेसिएशन ने सुबह आैर शाम की सैर काे खतरनाक बताया है आैर सुबह व शाम की सैर से लोगाें काे बचने की सलाह दी गई है।

खास बात यह है कि सुबह आैर शाम की सैर से बचने की सलाह सिर्फ दिल्ली एनसीआर में ही नहीं दी जा रही है। आईएमए यानि इंडियन मेडिकल एसाेसिशन की सहारनपुर विंग ने भी लाेगाें काे आगाह किया है कि वह सुबह की सैर से कुछ दिन के लिए परहेज करें। मुख्य रूप से बुजुर्गाें, बच्चाें आैर सांस के राेगियाें काे यह सलाह दी गई है कि वह सुबह आैर शाम की सैर से परहेज करें। इनके अलावा गर्भवती महिलाआें के लिए भी सुबह आैर शाम की सैर काे गलत बताया है। आईएमए सहारनपुर के अध्यक्ष डाॅ. माेहन पांडेय आैर डॉक्टर माेहन सिंह का कहना है कि प्रदूषण काे देखते हुए इनडाेर माॅर्निंग वॉक की सलाह की जा रही है। इन्हाेंने यह भी बताया कि सामान्य हालाताें में भी काेहरे के दाैरान वातावरण में अॉक्सीजन कम हाे जाती है यानि काेहरे में आउटडाेर माेर्निंग आैर इवनिंग वॉक से बचना चाहिए।

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned