महाशिवरात्रि पर आज बन रहे हैं शुभ याेग, शुभ मुर्हूत पर एेसे करेंगे महादेव का अभिषेक ताे हाेंगी सभी इच्छाएं पूरी

Mahashivratri महाशिवरात्रि 2019 पर बन रहे हैं विशेष याेग, जानिए पूजन की सही विधि आैर शुब मुर्हूत यह भी जनिए कैसे करें देवाें के देव महादेव काे प्रसन्न

By: shivmani tyagi

Updated: 04 Mar 2019, 09:42 AM IST

सहारनपुर। महाशिवरात्रि 2019 साेमवार आज देवाें के देव महादेव कैसे खुश हाेंगे ? कैसे करेंगे महादेव की पूजा आैर क्या है महाभिषेक का समय। अगर अभी तक आपकाे इन सवालाें के सही जवाब नहीं मिले हैं ताे हम आपकाे बताते हैं कि महज गंगाजल के अभिषेक से खुश हाेने वाले माहादेव का आज कैसे मिलेगा वरदान। साेमवार आज महाशिवरात्रि पर दशकाें बाद घनिष्ठा नक्षत्र आैर सर्वार्थ सिद्धि याेग एक साथ आया है। धर्माचायाें की माने ताे यह अद्भुत याेग सभी मनाेकामाआें की पूर्ति के लिए है। आचार्य पंडित राेहित वशिष्ठ के अनुसार इस बार महाशिवरात्रि पर जाे भक्त देवाें के देव महादेव की विधि विधान के साथ पूजा अर्चना करेंगे उन्हे जीवनभर काेई काेई कष्ट नहीं हाेगा। उनका वैभव सदैव बना रहेगा आैर कष्ट उनके जीवन से दूर हाे जाएगें।

 

पूजा विधि से पहले जानिए शुभ मूर्हुत

4 मार्च साेमवार काे महाशिवरात्रि है। साेमवार का दिन देवाें के देव महादेव का प्रिय का माना जाता है। ज्याेतिषाचार्याें के अनुसार इस बार साेमवार काे ही शिव याेग भी बन रहा है। शिव याेग के साथ-साथ सर्वार्थ सिद्ध याेग भी है। साेमवार शाम 4 बजकर 28 मिनट से चतुर्दशी तिथि शुरु हाेगी आैर अगले दिन यानि मंगलवार की शाम 7 बजकर 7 मिनट तक रहेगी। ज्याेतिष के जानकाराें के अनुसार क्याेंकि, इस बार अर्धव्यापिनी चतुर्दशी है इसलिए महाशिव रात्रि साेमवार काे ही मनाई जा रही है। शिव याेग साेमवार की दाेपहर 1 बजकर 32 मिनट से शुरु हाे जाएगा।

 

जानिए महाशिव रात्रि पर शुभ मुर्हूत

साेमवार काे पूजा का पहला शुभ मुर्हूत सुबह 7 बजकर 4 मिनट से दाेपहर 3 बजकर 20 मिनट तक रहेगा। यह देवाें के देव महादेव का ध्यान करें, अभिषेक करने आैर पूजा अर्चना करने के लिए उत्तम समय है। जाे लाेग इस समय महादेव का अभिषेक नहीं कर पाएंगे वह दूसरे शुभ मुर्हूत में अभिषेक करें। दूसरा शुभ मुर्हूत आधी रात काे 12 बजकर 7 मिनट से 12 बजकर 57 रहेगा। शिव रात्रि व्रत प्रहर पूजा का समय शाम 7 बजे से शुरू हाेगा आैर रात 9 बजकर 35 मिनट तक रहेगा। इसके बाद द्वितीय प्रहर का समय रात 9 बजकर 35 मिनट से शुर हाेकर देर रात 12 बजकर 10 मिनट तक है। तृतीय प्रहर की पूजा का समय देर रात 12 बजकर 10 मिनट से सुबह 3 बजकर 55 मिनट तक रहेगा। इसी तरह से चतुर्थ प्रहर की पूजा का समय सुबर 3 बजकर 55 मिनट से 6 बजकर 58 मिनट तक है।

 

एेसे करें पूजा

सुबह सबसे पहले स्नान करने के बाद साफ कपड़े पहने आैर देवाें के देव महादेव का ध्यान करें। सर्व प्रथम महादेव काे प्रमाण करें। इसके बाद धूंप दीप जलाते हुए महादेव काे पुष्प अर्पित करें। अगर धन चाहते हैं ताे गन्ने के रस से, पुत्र चाहते हैं ताे घी से, शक्ति चाहते हैं ताे कुशा के जल से, बुद्धि चाहते हैं ताे शक्कर मिले जल से, शत्रु पर विजय चाहते हैं ताे सरसाें के तेल से सुख समृिद्ध चाहते हैं ताे दूध से महादेव का अभिषेक करें। अगर आप कुछ नहीं चाहते हैं सिर्फ महादेव काे प्रसन्न करना चाहते हैं ताे गंगा जल से अभिषेक करें। इन सभी दृव्याें से अभिषेक करने से पहले आैर बाद में गंगाजल से ही अभिषेक करें। एेसा करने से अापकी मनाेकामनाएँ पूर्ण हाेंगी।

Show More
shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned