बेटे पर लगाए गए रासुका के खिलाफ भूख हड़ताल पर बैठीं रावण की मां, प्रशासन को दी ये चेतावनी

शब्बीरपुर और रामनगर में पहले ही महिलाएं कर रही हैं भूख हड़ताल

By: Iftekhar

Published: 12 Nov 2017, 04:02 PM IST

सहारनपुर. चंद्रशेखर उर्फ रावण पर रासुका की कार्रवाई के विरोध में अब भीम आर्मी प्रशासन को चौतरफा घेरने की तैयारी में है। शब्बीरपुर और रामनगर में चल रही भूखहड़ताल के बीच अब छुटमलपुर में चंद्रशेखर उर्फ रावण की मां कमलेश ने भी भूख हड़ताल शुरू कर दी है। रविवार सुबह करीब 9:30 बजे भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर उर्फ रावण की मां ज्योति किरण तिराहे पर धरने पर बैठ गई। कुछ ही देर में चंद्रशेखर की मां के समर्थन में अन्य महिलाएं भी यहां धरने पर आ गई। इस धरने को भूख हड़ताल की घोषणा करते हुए चंद्रशेखर उर्फ रावण की मां कमलेश ने साफ कह दिया कि जब तक उसके बेटे रावण समेत दलित समाज के अन्य लोगों पर की गई रासुका का की कार्रवाई को वापस नहीं लिया जाता, तब तक उनकी भूख हड़ताल जारी रहेगी।

रावण की मां के समर्थन में जुटने लगी हैं महिलाएं
भीम आर्मी सेना के प्रमुख चंद्रशेखर उर्फ रावण की मां 3 महिलाओं के साथ धरने पर बैठी थी। ज्योति किरण तिराहे पर इन महिलाओं के साथ खुले आसमान के तले धरने पर बैठी चंद्रशेखर उर्फ रावण की मां कमलेश ने जब भूख हड़ताल की घोषणा की तो समर्थन में यहां अन्य महिलाएं भी जुटने लगी। 1 घंटे में यहां दर्जनभर महिलाएं इकट्ठा हो गई। इस पर चंद्रशेखर की मां ने कहा है कि वह भूख हड़ताल पर हैं और दलित समाज की महिलाएं उनके साथ जुड़ गई है। अब उन के धरने और भूखहड़ताल को जबरन खत्म नहीं कराया जा सकेगा। वह अपनी अंतिम सांस तक भूख हड़ताल करेंगे और जब तक उनके बेटे चंद्रशेखर उर्फ रावण के ऊपर की गई साजिश की कार्यवाही को पुलिस प्रशासन खत्म नहीं कर देती तब तक वह धरने से नहीं उठेंगी। भूख हड़ताल करती रहेंगी और अन्न का एक दाना भी नहीं छुएंगी।


शब्बीरपुर में 5 दिन से चल रही है भूख हड़ताल
बड़गांव थाना क्षेत्र के चर्चित गांव शब्बीरपुर में पिछले 5 दिन से भूख हड़ताल चल रही है 3 दिन पहले वहां दो महिलाओं की हालत बिगड़ने पर उनको अस्पताल भर्ती कराया गया था बाद में उपचार के बाद उन्हें वहां से छुट्टी दे दी गई थी बावजूद इसके शब्बीर पुर गांव में लगातार भूख हड़ताल चल रही है और इन महिलाओं का भी साथ कहना है कि जब तक चंद्रशेखर उर्फ रावण समेत अन्य पर लगाई गई रासुका का को खत्म नहीं किया जाता तब तक उनकी भूख हड़ताल जारी रहेगी।


राम नगर नया गांव में भी चल रही भूख हड़ताल
शब्बीरपुर के बाद 2 दिन पहले शहर से सटे गांव राम नगर नया गांव में भी महिलाएं रविदास मंदिर में भूख हड़ताल पर हैं और इन महिलाओं का भी कहना है कि जब तक रासुका नहीं हटाई जाती हम अपनी भूख हड़ताल को खत्म नहीं करेंगे और यह भूख हड़ताल कब तक जारी रहेगी जब तक प्रशासन से कोई ठोस आश्वासन या रासुका को खत्म कर दिए किए जाने की कार्यवाही नहीं की जाती।

Show More
Iftekhar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned