मुस्लिम महिलाओं ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को बताया संत, बीजेपी के लिए मांगे वोट

Iftekhar Ahmed

Publish: Dec, 07 2017 05:18:21 PM (IST)

Saharanpur, Uttar Pradesh, India

सहारनपुर. तीन तलाक पर केन्द्र सरकार नए कानून का जो मसौदा तैयार किया जा रही है, उसे मुस्लिम महिलाओं ने अपने लिए वरदान बताया है। इतना ही नहीं इस मुद्दे पर मुस्लिम महिलाओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद करते हुए कहा है कि वह एक संत हैं, जिन्होंने मुस्लिम महिलाओं की जिंदगी को सुधारने का काम किया है। मुस्लिम महिलाएं यहां सहारनपुर में आयोजित एक कार्यक्रम में इकट्ठा हुई थी। इसी दौरान उन्होंने गुजरात चुनाव में भाजपा को वोट देने की अपील की और कहा कि मुस्लिम महिलाओं का यह फर्ज है कि उन्हें अपने सम्मान की रक्षा के लिए ऐसे व्यक्तित्व को चुनना चाहिए, जिसने उनके हकों की लड़ाई लड़ी और उन्हें सम्मानित जीवन जीने के लायक बनाया।

इन महिलाओं ने यहां मीडियाकर्मियों से बात करते हुए कहा कि मुस्लिम महिलाएं लंबे समय से तीन तलाक की प्रताड़ना और अत्याचार सहती आ रही थी। उन्हें तीन तलाक कहकर बेघर कर दिया जाता था और कई महिलाओं को तलाक के बाद उनके परिवार वालों ने भी अपने पास रखने से मना कर दिया। ऐसे में मुस्लिम महिलाओं के सामने अपने बच्चों को लेकर कहां जाएं ? यह बड़ी चुनौती पैदा हो जाती थी। इन महिलाओं ने कहा की पूर्व में भी कई सरकारें आई, लेकिन किसी ने भी मुस्लिम महिलाओं के लिए नहीं सोचा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही एक ऐसे नेता हैं, जिन्होंने मुस्लिम महिलाओं के लिए सोचा है।


मुसलमान मोदी के राज में ही सुरक्षित
इन महिलाओं ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सिर्फ मुस्लिम महिलाओं का ही ध्यान नहीं रखा है बल्कि मुस्लिमों पर भी उन्होंने होने वाले अत्याचारों को कम किया। एक उदाहरण के तौर पर इन महिलाओं ने बताया की पूर्व की सरकारों में 50000 से अधिक मुस्लिमों को झूठे मामलों में फसाया गया लेकिन जब से भाजपा की सरकार आई है तब से मुस्लिमों पर अत्याचार कम हुए हैं और नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद मुस्लिमों को झूठे मामलों में फंसाए जाने की घटनाओं में भी बेहद कमी आई है।

ये महिला की रहीं मौजूद
भाजपा की ओर से आयोजित इस कार्यक्रम में नरगिस अंसारी, पूर्व सभासद शाहीन परवीन, कमर जहां अंसारी, शूबी परवीन, फातिमा कुमारी, सलमा गौरी, मेहराज बानो, तमन्ना, आयशा गोरी, शमा, परवीन बानो, बिसमिल्लाह खातून, कमर जहां, गोरी, सुमैया सय्यद और खुशहाल बानो समेत बड़ी संख्या में मुस्लिम महिलाएं मौजूद रही।

Ad Block is Banned