सरकारी कर्मचारियों द्वारा घूस मांगने का स्टिंग कर सीएम योगी से शिकायत करना पड़ा भारी, जानें पूरा मामला

सरकारी कर्मचारियों द्वारा घूस मांगने का स्टिंग कर सीएम योगी से शिकायत करना पड़ा भारी, जानें पूरा मामला

Rahul Chauhan | Publish: Aug, 14 2019 03:53:41 PM (IST) | Updated: Aug, 14 2019 03:55:09 PM (IST) Saharanpur, Saharanpur, Uttar Pradesh, India

खबर की मु्ख्य बातें-

-11 अगस्त को एक स्टिंग वीडियो बनाकर सीएम योगी को ट्वीट किया था

-प्रशासन ने नोटिस थमाते हुए 24 घंटे में जवाब तलब किया है

-नोटिस मिलने के बाद शिकायतकर्ता ने षड़यंत्र रचने का आरोप लगाया है

देवबंद। सीएम के ट्वीटर वॉल पर तहसीलकर्मियों का वीडियो वायरल करने वाले शिकायतकर्ता को प्रशासन ने नोटिस थमाते हुए 24 घंटे में जवाब तलब किया है। नोटिस मिलने के बाद शिकायतकर्ता ने तहसील प्रशासन पर उसके खिलाफ षड़यंत्र रचने का आरोप लगाया है। दरअसल, बीती 11 अगस्त को तहसील में भ्रष्टचार का आरोप लगाकर एक स्टिंग वीडियो बनाकर सीएम योगी को सुबोध जैन नामक व्यक्ति ने ट्वीट किया गया था।

यह भी पढ़ें: इस बड़े मुस्लिम नेता को बनाया जाएगा कांग्रेस का नया प्रदेश अध्‍यक्ष!

बताया जा रहा है कि सुबोध जैन ने तहसील कर्मियों द्वारा उससे 10 हजार रुपये की घूस मांगने का वीडियो वायरल किया गया था। वायरल वीडियो में कृषि भूमि को आबादी में दर्ज कराए जाने को 10 रुपये के साथ अलग से दो हजार रुपये की मांग करता हुआ तहसील कर्मी दिखाई दे रहा है। स्टिंग के वायरल होने के बाद डीएम आलोक कुमार पांडे ने एसडीएम राकेश कुमार को प्रकरण की जांच कर 24 घंटे में रिपोर्ट देने को निर्देशित किया था।

 

जिसके बाद तहसीलदार आशुतोष मिश्र ने वायरल वीडियों में दिखाई दे रहे तहसील कर्मियों समेत सुबोध जैन को नोटिस जारी कर 24 घंटे में स्पष्टीकरण देने को निर्देशित किया था। साथ ही चेतावनी दी थी कि यदि समय के अनुसार स्पष्टीकरण नहीं दिया गया तो कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें : उधार के रुपये मांगने गए कॉन्सटेबल पर दबंगों ने घेर कर बोला हमला, हालत गंभीर

उधर, नोटिस मिलने से नाराज शिकायतकर्ता सुबोध जैन ने कहा कि उन्हें नोटिस देकर तहसील प्रशासन डराने का कार्य कर रहा है। उन्होंने कहा कि वायरल वीडियों में जब सब कुछ स्पष्ट हो रहा है तो उन्हें किस कारण से नोटिस दिया जा रहा है। यह समझ से परे है। उन्होंने तहसील के एक अधिकारी पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह संबंधित प्रकरण को लेकर मंडलायुक्त और डीएम को अपना जवाब भेजेंगे। एसडीएम राकेश कुमार ने बताया कि वायरल वीडियो पर तहसील कर्मियों समेत चार लोगों को नोटिस जारी किया गया है। नोटिस का जवाब आने के बाद रिपोर्ट डीएम को भेजी जाएगी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned