लॉक डाउन: यूपी के इस शहर में वाहन स्वामियों पर 37 लाख से अधिक का जुर्माना लगा चुकी है पुलिस

Highlights

  • सहारनपुर में शनिवार तक 9946 वाहन चेक किए इनमें से 3321 वाहनों का चालान किया गया है और 807 वाहन सीज किए गए

By: shivmani tyagi

Updated: 28 Mar 2020, 09:42 PM IST

सहारनपुर। लॉक डाऊन के बीच भी लोग बेवजह अपने घरों से निकल रहे हैं। इसका प्रमाण सहारनपुर पुलिस की हर राेज की कार्यवाही में सामने आ रहा है। कोरोना वायरस ( Corona virus ) के संक्रमण की रोकथाम के लिए 23 मार्च से लॉक डाऊन है और पुलिस हर राेज लोगों पर कार्रवाई कर रही है। 28 मार्च की दोपहर तक पुलिस सहारनपुर नें लोगों पर 37 लाख 64 हजार 100 रुपये जुर्माना लगाया।

यह भी पढ़ें: Lockdown: सब्जी और फल की रेट लिस्ट हुई जारी, इससे अधिक दाम पर नहीं बेच सकते दुकानदार

नोवल कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए पूरे देश में लॉक डाउन किया गया है और सहारनपुर में भी लॉक डाउन है। सहारनपुर की सभी सीमाओं को सील कर दिया गया है। सहारनपुर यूपी का एक ऐसा जिला है जिसकी सीमाएं उत्तराखंड-उत्तर प्रदेश हरियाणा और हिमाचल प्रदेश से मिलती हैं। यही कारण है कि यहां संवेदनशीलता काफी अधिक है। सहारनपुर में पुलिस लगातार वाहनों को सीज कर रही है।

यह भी पढ़ें: Lockdown से सुधरी क्राइम की सेहत, मुरादाबाद मंडल में बीते छह दिनों में कोई बड़ी वारदात दर्ज नहीं

सहारनपुर एसएसपी दिनेश कुमार (पी) ने बताया कि 28 मार्च की दोपहर तक पुलिस 9 हजार 946 वाहन चेक कर चुकी थी। इनमें से 3,321 वाहनों का चालान किया गया जबकि 807 वाहनों को सीज किया गया है। इनसे 37 लाख 64 हजार 100 रुपए का समन्न शुल्क भी वसूला गया। धारा 151, 107 और 116 सीआरपीसी के तहत अब तक सहारनपुर में 1 हजार 137 व्यक्तियों के विरुद्ध कार्रवाई की जा चुकी है।

यह भी पढ़ें: Rampur: लॉकडाउन के बीच अचानक दिल्ली-लखनऊ हाइवे पर दुकान में लग गयी आग

इतना ही नहीं, धारा 188 के अंतर्गत 202 मुकदमें दर्ज किए जा चुके हैं। इनमें 1 हजार 81 व्यक्तियों के विरुद्ध कार्रवाई की गई है। उन्होंने यह भी बताया कि रविवार को अब यह कार्रवाई और अधिक तेज की जाएगी और जो लोग बेवजह गैर जरूरी कार्यों से अपने घरों से निकल रहे हैं उनके खिलाफ इसी तरह से अभियान जारी रहेगा

Corona virus कोरोना वायरस
shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned